न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#HyderabadRapeCase: धनबाद में छात्राओं ने निकाला मार्च, पलामू में दुकानें बंद रहीं, मोमबत्ती जुलूस निकाला

597

Dhanbad/Palamu : हैदराबाद में हुई दुष्कर्म की घटना को लेकर आक्रोश झारखंड में भी देखा जा रहा है. गुरुवार को धनबाद में छात्राओं ने विरोध मार्च नहीं, वहीं पलामू में दुकानें बंद रखा और कैंडल मार्च निकाल विरोध जताया.

धनबाद के पीके राय, SSLNT और बीएसएस कॉलेज की छात्राओं ने विरोध मार्च निकाला. विरोध मार्च में छात्र छात्राओं ने अपने हाथो में तख्तियां लेकर धनबाद की लडकियों को भी असुरक्षित बताया और ऐसी घटनाओं का जिम्मेवार प्रशासन को ठहराया.

छात्राओं ने कहा कि ऐसे अपराधियो को फांसी नहीं बल्कि ज़िंदा जला देना चाहिए.

छात्राओं ने कहा हमारी कानून व्यवस्था ने ऐसे अपराधियो के लिए अगर कोई कठोर कदम उठाया होता तो आज अपराधी दोबारा ऐसा कुकर्म करने की हिम्मत नहीं करते.

इसे भी पढ़ें : पीएम को चिट्ठी लिख कर कहा था, न करें विधानसभा का उद्घाटन, अगजनी की हो सीबीआइ जांचः सरयू

Mayfair 2-1-2020

पलामू: हरिहरगंज और पांडू में बंद रही दुकानें, निकला कैंडल मार्च

घटना के विरोध में पलामू के हरिहरगंज की छिटपुट दुकानों को छोड़ अधिकांश दुकानें बंद रहीं. इस दौरान लोगों ने स्वेच्छा से अपनी-अपनी दुकानों को बंद रखा और घटना पर दुख जताया.

लोगों ने कहा कि जिस तरह से देश में महिलाएं दुष्कर्म व हत्या के शिकार हो रही हैं, यह देश के लिए शर्मनाक है. लोगों ने कहा कि अगर जल्द इन हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की गयी तो वह दिन भी दूर नहीं होगा जग नारी शक्ति सड़कों पर उतर कर उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगी.

Sport House

मुखिया के नेतृत्व में दर्ज किया गया विरोध

उधर, पांडू के कजरूकला पंचायत में भी इस घटना के विरोध में दुकानें बंद रही. मौके पर नव युवक क्रांति संघ के सदस्यों एवम कजरु कलां पंचायत के मुखिया जवाहिर पासवान रंजित ठाकुर, सगुनी साव, जगनारायण विश्वकर्मा, बमबम गुप्ता, कौशल गुप्ता ने इस हृदय विदारक घटना की घोर निंदा की और विरोध जताया. पंचायत के ग्रामीणों ने भी बंद का समर्थन किया. ततपश्चात पांडू में कैंडल मार्च भी निकाला गया.

इसे भी पढ़ें : नौकरी घोटाला : सरयू राय ने रिकॉर्ड जारी कर कहा, रघुवर ने 26 हजार युवकों को रोजगार देने का झूठा दावा किया

एलबीएस स्कूल ने निकाला कैंडल       

डालटनगंज के नावाहाता स्थित एलबीएस पब्लिक स्कूल की ओर से कैंडल मार्च निकाला गया. शिक्षकों और स्कूली बच्चों ने विद्यालय से निकलकर सुभाष चैक एवं तिनकोनिया मोड़ से होते हुए डॉ. राजेंद्र प्रसाद चैक तक शांति मार्च किया.

इसके बाद बच्चों सहित सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने कैंडल जलाकर त्वरित न्याय का मांग की. इस दौरान बच्चों ने अपने हाथों में तख्तियां ले रखी थी, जिनमें  लड़कियों के सम्मान में कई स्लोगन लिखे हुए थे.

मौके पर सभी ने मृत पशु चिकित्सक आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा और श्रद्धांजलि अर्पित की.

इससे पहले विद्यालय के शिक्षकों ने बच्चों से अपने नैतिक मूल्यों को मजबूत करने की भी अपील की गयी. बच्चों को बताया गया कि हम सब को लड़कियों और महिलाओं का सम्मान करना चाहिए. लड़कियां ही सृष्टि की वास्तविक रचनाकार है.

विद्यालय के प्राचार्य बिनित बिभाकर ने कहा कि इस मार्च का उद्देश्य न्याय कि मांग के साथ- साथ  समाज में हो रही बुराइयां एवं अत्याचार के प्रति लोगों में जागरूकता लाना है.

मौके पर विद्यालय के वाइस प्रिंसिपल एन के पाठक, कोऑर्डिनेटर अमित गुप्ता, शिक्षक श्याम सिंह, प्रभु दयाल विश्वकर्मा, इरशाद अंसारी, अलका घोरपड़े, अर्चना सिंह, रेखा पटवा, सागर कुमार इत्यादि मौजूद थे.

युवाओं ने निकाला मौन जुलूस, डीसी को सौंपा जाएगा ज्ञापन

डालटनगंज के युवाओं ने देश में घट रही दुष्कर्म के विरोध में मौन प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में शामिल युवा हाँथों में तख्तियाँ लिए हूए थे. तख्तियों पर दुष्कर्म के विरोध में संलोग्न लिखे हुए थे. प्रदर्शन शहर के विभिन्न मार्ग का भ्रमण करते हुए पुरनचंद चौक पर आकर समाप्त हुई.

इसके पूर्व सोशल मीडिया के आह्वान पर देश में हो रहे दुष्कर्म के विरोध में जिला स्कूल के प्रांगण में आयोजित बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि शुक्रवार को पलामू उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #AyodhyaVerdict से पाकिस्तान के साथ महागठबंधन भी नाखुश : योगी आदित्यनाथ

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like