न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#HyderabadEncounter : तेलंगाना हाई कोर्ट ने रेप के आरोपियों के शव 9 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश दिया 

कुछ लोग इसे रेप पीड़िता के लिए त्वरित न्याय बता रहे हैं, वहीं कुछ लोगों ने इसे न्यायेतर हिंसा करार दे रहे हैं.

84

Hyderabad : हैदराबाद एनकाउंटर में मारे गये आरोपियों के शव 9 दिसंबर शाम 8 बजे तक सुरक्षित रखे जाने का आदेश  तेलंगाना हाई कोर्ट ने निर्देश दिया है.  हाई कोर्ट  ने यह आदेश चीफ जस्टिस के कार्यालय को मिले एक प्रतिवेदन के आधार पर  दिया है.  प्रतिवेदन ने  घटना  को लेकर न्यायिक हस्तक्षेप की  मांग की गयी है.  आरोप लगाया गया है कि यह न्यायेतर हत्या है. जान लें कि हैदराबाद पुलिस ने डॉक्टर के रेप के मामले में आरोपियों को एक एनकाउंटर में मार गिराया है.

इसे भी पढ़े :  #UnnaoHorror: सड़क के रास्ते लाया जा रहा पीड़िता का शव, मामले पर राजनीति तेज-धरने पर अखिलेश, परिजनों से मिलने पहुंचीं प्रियंका

पुलिस एनकाउंटर पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं

पुलिस के अनुसार रेप के आरोपी पुलिस के हथियार छीनकर भागने का प्रयास कर रहे थे. ऐसे में पुलिस ने जवाबी फायरिंग की.  इस फायरिंग में चारों आरोपी ढेर हो गये. अब पुलिस एनकाउंटर पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.  कुछ लोग इसे रेप पीड़िता के लिए त्वरित न्याय बता रहे हैं, वहीं कुछ लोगों ने इसे न्यायेतर हिंसा करार दे रहे हैं.

इस क्रम में पुलिस एनकाउंटर पर उठ रहे सवालों पर कह रही है कि हम एनएचआरसी, राज्य सरकार या किसी भी अन्य संगठन के जो भी सवाल हैं, उनका जवाब देने के लिए तैयार हैं.  साथ ही पुलिस कमिश्नर ने सोशल मीडिया या अन्य माध्यम पर पीड़िता की पहचान उजागर नहीं करने की अपील की.

पुलिस ने जानकारी दी कि  घटनास्थल से ही पीड़िता का फोन भी बरामद किया गया है. चारों आरोपियों मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशवुलु को लेकर घटनास्थल पर सीन के रीकंस्ट्रक्शन के लिए पहुंची थी. पुलिस का मकसद था कि सीन का रीकंस्ट्रक्शन करके घटना की कड़ियों को जोड़ा जा सके ताकि उसके लिए पूरे मामले को समझना आसान हो और जांच हो सके.

इसे भी पढ़े : #unnaokibeti: जिंदगी की जंग हार गई रेप पीड़िता, पिता की सीएम योगी से अपील हैदराबाद की तरह दोषियों को मिले सजा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like