न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#HyderabadEncounter : सुप्रीम कोर्ट में याचिका, पुलिस के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग,  सुनवाई  सोमवार को

मीडिया पर भी गैग ऑर्डर जारी करने की  मांग की गयी है. साथ ही  याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट अपनी निगरानी में SIT जांच कराये.   

44

NewDelhi : हैदराबाद एनकाउंटर को लेकर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में पुलिस के खिलाफ जांच की मांग करते हुए याचिकाएं दाखिल की गयी है.  खबरो के अनुसार एडवोकेट जीएस मणि और प्रदीप कुमार यादव ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. याचिका में कहा गया है कि एनकाउंटर के दौरान पुलिस ने 2014 में कोर्ट द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों का पालन नहीं किया.

याचिका में  एनकाउंटर में शामिल पुलिकर्मियों के खिलाफ एफआईआर करने की मांग की गयी है.   इस मामले में कोर्ट सोमवार को सुनवाई करेगा. जान लें कि शुक्रवार तड़के पुलिस चारों आरोपियों को लेकर क्राइम सीन रीक्रिएट करने गयी थी.  पुलिस ने दावा किया कि भागने की कोशिश में चारों गोली के शिकार हो गये.

इसे भी पढ़ें : #HyderabadEncounter : तेलंगाना हाई कोर्ट ने रेप के आरोपियों के शव 9 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश दिया 

एक्स्ट्रा जूडिशल किलिंग का समर्थन करने वालों के खिलाफ भी याचिका 

इसी क्रम में  सुप्रीम कोर्ट में एक और जनहित याचिका दाखिल की गयी है.  वकील मनोहर लाल शर्मा ने याचिका दायर की है.  याचिका  में उन लोगों को भी पार्टी बनाया है,  जिन लोगों ने एक्स्ट्रा जूडिशल किलिंग का समर्थन किया था.  इनमें समाजवादी पार्टी की राज्यसभा सांसद जया बच्चन और दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल के नाम शामिल हैं. मीडिया पर भी गैग ऑर्डर जारी करने की  मांग की गयी है. साथ ही  याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट अपनी निगरानी में SIT जांच कराये.

hotlips top

जान लें कि  शुक्रवार तड़के पुलिस ने आरोपियों शिवा, नवीन, केशवुलू और मोहम्मद आरिफ को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था.  पुलिस के अनुसार आरोपियों को उस अंडरपास पर ले जाया गया था जहां उन्होंने पीड़िता के शव को जलाया था.  आरोपियों को क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए ले जाया गया था.  जानकारी दी गयी कि  उन्होंने पुलिसवालों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की और पुलिस पर फायरिंग की.  जवाबी कार्रवाई में चारों को पुलिस ने मार गिराया.

इसे भी पढ़ें :  #HyderabadEncounter : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने एनकाउंटर का संज्ञान लिया, जांच होगी

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like