न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हुसैनाबाद विधायक-सीओ विवाद में कूदे एससी आयोग के अध्यक्ष, कहा : अपनी हद में रहें विधायक

ईमानदार अधिकारी पर कीचड़ उछालना विधायक को पड़ेगा महंगा

1,293

Palamu : हुसैनाबाद विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता और अंचलाधिकारी विपिन कुमार दुबे के बीच बढ़ी तकरार मामले में एससी आयोग के अध्यक्ष शिवधारी राम ने सीओ का समर्थन किया है. इस प्रकरण में सीओ का पक्ष लेते हुए आयोग के अध्यक्ष ने विधायक को अपनी हद में रहने की सलाह दी है. सरकारी की योजनाओं के प्रचार प्रसार को लेकर हुसैनाबाद पहुंचे आयोग अध्यक्ष ने पत्रकारों से बात करते हुए विधायक को नसीहत दी कि अगर वे अपनी हद में नहीं रहेंगे तो यह उनके लिए भारी पड़ सकता है.

विधायक कामों में व्‍यवधान उत्‍पन्‍न करते हैं

आयोग अध्यक्ष ने हुसैनाबाद-हरिहरगंज विधानसभा विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता को आड़े हाथ लेते हुए कहा, कि एक विधायक को ईमानदार पदाधिकारी पर कीचड़ उछालना उनके सेहत के लिए ठीक नही है. हमारे क्षेत्र में पदाधिकारी हैं, वे ईमानदारी पूर्वक कार्य कर रहे हैं. लेकिन स्थानीय विधायक द्वारा तर्कसंगत हो रहे कार्यों में व्यवधान उत्पन्न किया जा रहा है. जिससे क्षेत्र में विकास कार्य बाधित हो रहे हैं.

कई योजनाओं की दी जानकारी

आयोग अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के मुखिया रघुवर दास के नेतृत्व में राज्य के अनुसूचित जाति व जनजाति परिवारों के लिए कई योजनाएं संचालित की हैं. जिसका लाभ पढ़े-लिखे युवा रोजगार कर एवं ऋण पाकर आने भविष्य को संवार सकते हैं. राज्य सरकार एससी-एसटी के युवाओं के लिए आर्थिक शैक्षणिक स्तर को अच्छा करने के लिए एक व्यापक योजना तैयार की है. जिसके तहत वैसे परिवार जो आवास विहीन हैं वैसे परिवार को 95 हजार रुपये उपलब्ध कराई जाएगी. शिक्षित बेरोजगार युवा जो आर्थिक कमी के कारण रोजगार करने में अक्षम है, उन्हें 50 हजार रुपये मुर्गी पालन के लिए ऋण मुहैया कराएगी.

मौके पर बीससूत्री उपाध्यक्ष विपिन बिहारी सिंह, भाजपा के वरिष्ठ नेता कर्नल संजय सिंह, विजय पाठक, रामेश्वर राम, हैदरनगर बीससूत्री अध्यक्ष डॉ. अजय जायसवाल, टिंकू तिवारी और अजय प्रसाद गुप्ता उपस्थित थे.

अतिक्रमण मामले से जुड़ा है मामला

हुसैनाबाद के पचमो गांव में श्मशान की भूमि पर लगातार अतिक्रमण किया जा रहा है. कई बार भूमि को अतिक्रमणमुक्त किया गया, लेकिन बार-बार ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है. भूमि पर की गयी घेराबंदी भी हटा दी जा रही है. इसी मामले में सीओ द्वारा कार्रवाई किए जाने पर गत 15 दिसंबर को विधायक का फोन आया और 14 लोगों के शामिल होने के बावजूद दो लोगों पर ही कार्रवाई करने का आरोप लगाया गया. फोन पर दोनों के बीच खूब तू-तूं,, मैं-मैं हुई. बाद में इसका ऑडियो भी वारयल हुआ.

इसे भी पढ़ें : भाजपा विधायकों को नहीं देंगे रंगदारी, बंद करेंगे सभी हार्ड कोक भट्ठा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: