Court NewsKoderma

कोडरमा में दहेज को लेकर विवाहिता की हत्या मामले में पति को 12 वर्ष सश्रम कारावास 

Koderma:  दहेज हत्या के मामले में सुनवाई करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय अजय कुमार सिंह की अदालत ने सतगावां थाना क्षेत्र के सम्बलडीह निवासी और मृतका रिंकू देवी के पति धर्मेंद्र यादव उर्फ बंगाली यादव पिता प्रकाश यादव को धारा 304बी/34 में दोषी पाते हुए 12 वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई है. घटना 12 मई वर्ष 2015 की है. इस मामले में सतगावां थाना में दहेज हत्या को लेकर मृतका की मां धनवा देवी पति भुखन यादव खखनबुआ, गोविंदपुर नवादा बिहार निवासी के द्वारा कांड संख्या 43/15 दर्ज कराया गया था.

इसे भी पढ़ें: गिरिडीह: सर जेसी बॉस स्कूल से दो बच्चियां हुई लापता, थाना से मिल रहा सिर्फ आश्वासन

कांड की सूचक धनवा देवी ने कहा था कि उसकी पुत्री रिंकू देवी का विवाह 5 वर्ष पूर्व समलडीह निवासी धर्मेंद्र यादव उर्फ बंगाली यादव के साथ हुआ था. बेटी के साथ उसके पति, सास, श्वसुर और ननद बराबर मारपीट और प्रताड़ित करते थे. इसको लेकर कई बार पंचायत भी हुआ इस दौरान मेरी बेटी को पुत्री हुआ. 12 मई 2015 को भी उसके साथ मारपीट किया गया जिससे उसकी मौत हो गई. अतिरिक्त दहेज के लिए मारपीट कर हत्या कर दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया. न्यायालय में सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से लोक अभियोजक बलिराम सिंह की ओर से 13 गवाहों का प्रतिपरीक्षण कराया गया, वहीं बचाव पक्ष की ओर से अधिवक्ता सुमन जयसवाल ने अपनी दलीलें रखी. अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने और अभिलेख पर उपस्थित साक्ष्यों का अवलोकन करते हुए मृतका के पति धर्मेंद्र यादव को सजा के विंदु पर 19 जनवरी 2023 को दोषी करार दिया और शनिवार को सुनवाई के दौरान 12 वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई.

Related Articles

Back to top button