न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिटायर्ड बीएसएफ के जवान की पत्नी से डेढ़ लाख कैश और जेवर की छिनतई

284

Ranchi: राजधानी में छिनतई की घटना पर लगाम नहीं लग रही है. अपराधियों के द्वारा एक के बाद एक छिनतई की घटना को अंजाम दिया जा रहा है. इसी क्रम में सदर थाना क्षेत्र के बरियातू रोड में सेवेन डे स्कूल के पास डेढ़ लाख कैश और जेवर की छिनतई बाइक पर सवार होकर आये अपराधियों ने कर ली. चिनतई के बाद वे आराम से फरार हो गये. घटना की सूचना मिलने पर मौके पर सदर थाना की पुलिस पहुंची और मामले की छानबीन में जुट गई.

इसे भी पढ़ें – पलामू : संपत्ति विवाद में भाई बना भाई का दुश्मन, ट्रक से रौंदा, एक की मौत,  तीन गंभीर

झपट्टा मार कर बैग छीना

मिली जानकारी के पीड़ित महिला अपनी बेटी की शादी के रुपये और गहना लेकर ऑटो में सवार होकर जा रही थी. इसी क्रम में एक बाइक पर सवार होकर आये दो अपराधी ऑटो में झपट्टा मार कर महिला का बैग लेकर फरार हो गये. वहीं घटना के बाद महिला का रो-रो कर बुरा हाल है. रिटायर्ड बीएसएफ जवान की पत्नी रेणु देवी बेटी की शादी के जेवर खरीदने रांची आयी थी. वह चुटूपालू रामगढ़ रोड की रहने वाली है.

इसे भी पढ़ें – तूफान फानी को लेकर प्रधानमंत्री का झारखंड दौरा रद्द, राज्य के 15 जिलों के स्कूल भी 3 और 4 मई को रहेंगे बंद

महिलाएं खुद को सुरक्षित नहीं कर रहीं महसूस

राजधानी रांची की महिलाएं खुद को सुरक्षित नहीं महसूस कर रही हैं. शहर में चेन छिनतई की घटनाओं ने महिलाओं का घर से बाहर निकलना मुश्किल कर दिया है. आलम यह है कि सुबह दूध लेने जाने का समय हो या बच्चों को स्कूल पहुंचाने का या फिर पूजा करने के लिए मंदिर जाने का कभी भी कहीं भी महिलाएं खुद को सुरक्षित नहीं महसूस कर रही हैं. राजधानी रांची में अमूमन रोजाना किसी ने किसी इलाके में एक महिला से छिनतई हो रही है.

इसे भी पढ़ें – जयंत सिन्हा ने झारखंड में मॉब लिंचिंग के अभियुक्तों को न सिर्फ माला पहनायी बल्कि उन्हें आर्थिक मदद भी दी

महिलाएं स्नैचर के लिए सॉफ्ट टारगेट

राजधानी में इन दिनों चेन छिनतई की घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है. जिनमें बरियातू, मोरहाबादी, चिरौंदी, कुसुम विहार, कडरू, कोकर,अशोक नगर,हरमू समेत कई पॉश इलाके शामिल हैं. महिलाएं चेन स्नैचर के लिए सॉफ्ट टारगेट होती हैं. बाइक सवार अपराधी ज्यादातर सुबह और शाम के वक्त वारदात को अंजाम देते हैं.खासकर उस वक्त जब महिलाएं सुबह या शाम की सैर करने. राजधानी रांची में छिनतई की घटना को अंजाम देने वाले कुछ गिरोह ऐसे हैं जो ओडिशा और बंगाल से आकर यहां पर छिनतई की घटना का अंजाम देते हैं.मिली जानकारी के मुताबिक, ऐसे गिरोह के लोग काम को अंजाम देने में चोरी की बाइक का उपयोग करते है और समय-समय उसका नंबर प्लेट भी बदलते रहते हैं. दूसरे जगहों से आने वाले ऐसे अपराधी चोरी और छिनतई की घटना को अंजाम देने के बाद अपना ठिकाना बदल लेते हैं.

इसे भी पढ़ें –  पलामू : पराये मर्द से बात करने के शक में पत्नी को बेहोश कर बोरे में भर कर कुएं में फेंका, दम घुटने से मौत, पति गिरफ्तार  

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: