JharkhandRanchi

#HumanTrafficking: सुरक्षित पलायन से मानव तस्करी को रोका जा सकता है- कृति

Ranchi: मानव तस्करी एवं महिलाओं की गतिशीलता के अधिकार को लेकर राज्यस्तरीय कार्यशाला का आयोजन केरीटास स्विटजरलैंड के सहयोग से सिन्दुआर टोला ग्रामोदय विकास विद्वालय के द्वारा रांची में प्रेस क्लब में किया गया.

कार्यशाल में बोलते हुए केरीटास स्विटजरलैड के भारतीय निदेशक कृति ने कहा कि झारखंड के खूंटी जिले में केरीटास स्विटजरलैंड के सहयोग से सुरक्षित पलायन समिति और पलायन ट्रैकिंग सिस्टम के द्वारा झारखंड के सबसे ज्यादा मानव तस्करी वाले इलाके रनिया में दो सालों से काम किया जा रहा है जिसके बेहतर परिणाम सामने आये हैं.

पलायन करने वाले महिलाओं को मुसीबत के क्षण में उचित सहायता प्रदान करने का एक मॉडल विकसित किया गया है. इसके तहत पलायन करने वाली उन तमाम महिलाओं को उनके समाज और समुदाय से जोड़े रखने के लिए ट्रैकिंग सिस्टम काम कर रहा है.

सुरक्षित पलायन समिति बनाकर पलायन करने वाले लोगों को आर्थिक शोषण से बचाने में सफलता मिली है.

इसे भी पढ़ें : #Dhanbad: भाजपा ने CAA  और NRC के पक्ष में बनायी मानव श्रृंखला,  शामिल हुए धनबाद के सांसद, मेयर सहित तीन विधायक, पर नहीं दिखी भीड़

सुरक्षित पलायन एवं काम का अधिकार सभी को- राजन कुमार

सिन्दुआर टोला ग्रामोदय विकास विद्वालय के सचिव राजन कुमार ने कहा कि सुरक्षित पलायन एवं काम का अधिकार सभी को है. मानव जीवन में अपने अजीविका को सृजित करने के लिए लोगों को पलायन करने की जरूरत पड़ी है.

इसे रोका नहीं जा सकता लेकिन सुरक्षित पलायन को लेकर समाज में जगरूकता लाकर मानव तस्करी को रोका जा सकता है. अदिवासी इलाके में जागरुकता लाकर आम जनों को आजीविका देने का काम रनिया प्रखंड के 20 गांव में किया जा रहा है.

इसके बेहतर परिणाम भी समाने आये है. पलायन करने से पूर्व ग्रामीणों का डाटा बेस तैयार किया जाता है. साथ ही श्रम विभाग के कानूनी प्रावधान के बारे में भी लोगों को जानकारी दी जाती है.

कार्यशाला में अंजली सिंह, असरफी नंद प्रसाद और मिथलेश ने भी प्रतिभागियों को काम के अधिकार, सूचना के अधिकार एवं मानव तस्कारी से बचने के उपाय के बारे में बताया.

इसे भी पढ़ें : पलामू: प्राथमिक विद्यालय के तीन कमरे में अवैध कब्जा, क्लासरूम में चलती है गौशाला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button