Khas-KhabarNationalNEWS

प्रशांत किशोर की यह रणनीति कैसे पीएम मोदी को मुश्किल में डाल सकती है, जानिए…

Uday Chandra Singh

Sanjeevani

New Delhi: राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार और चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की बैठक के पीछे की कहानी अब सामने आ गई है. प्रशांत किशोर के साथ बैठक के बाद शरद पवार ने भाजपा के खिलाफ संयुक्त मोर्चा खड़ा करने की मुहिम शुरू कर दी है. मंगलवार को शरद पवार गैर-कांग्रेसी विपक्षी दलों की बैठक की मेज़बानी करेंगे.

MDLM

सूत्रों के अनुसार शरद पवार ने पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ ‘एकजुट’ होने के संभावना तलाशने के लिए विपक्षी नेताओं की यह बैठक बुलाई है. बैठक से  कांग्रेस को दूर रखा गया है. माना जा रहा है कि संयुक्त मोर्च की भावी रणनीति प्रशांत किशोर के रोड मैप के अनुसार बनाई जा रही है.

बीते दो हफ्ते में शरद पवार के साथ प्रशांत किशोर की दो बार बैठक हो चुकी है जिसमें दो साल बाद बाद होने वाले आम चुनाव के मद्देनजर नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ विपक्षी मोर्चा की चर्चाओं ने जोर पकड़ा है. .इस बैठक को वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव के पहले विपक्षी मोर्चा गठित करने की कोशिशों का हिस्‍सा माना जा रहा है.

शरद पवार और प्रशांत किशोर के बीच दूसरी मुलाकात दिल्‍ली में हुई है, जबकि पहली मुलाकात 11 जून को एनसीपी प्रमुख के मुंबई स्थित आवास पर हुई थी. रविवार की बैठक करीब आधे घंटे चली थी, इससे पहले 11 मई को हुई बैठक करीब चार घंटे तक चली थी. सूत्रों के अनुसार, बैठक में वर्ष  2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और बीजेपी विहीन तीसरे फ्रंट और पीएम मोदी को चुनौती देने के लिए विपक्ष के संयुक्‍त पीएम उम्मीदवार के बारे में बात हो सकती है. कई पार्टियों ने ऐसे ग्रुप से जुड़ने की इच्‍छा जताई है.

Related Articles

Back to top button