न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भाकपा के उम्मीदवार बनाने पर चुनाव लड़ने से कैसे मना कर सकता हूं : कन्हैया

गुरुवार को पटना में भाकपा की ‘‘भाजपा हराओ-देश बचाओ’’ रैली

135

Patna: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने मंगलवार को कहा कि बेगूसराय सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर अभी कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई है. बिहार में अबतक महागठबंधन की रूपरेखा भी तय नहीं हुई है. हालांकि पार्टी (भाकपा) ने उन्हें उम्मीदवार बनाया और इस पर घटक दलों की भी सहमति हुई तो मैं चुनाव लड़ने से कैसे मना कर सकता हूं.

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीरः मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, इलाके में तनाव-इंटरनेट सेवा बंद

Trade Friends

पटना में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कन्हैया ने यह बात कही. पटना में एम्स में मित्र से मुलाकात के दौरान हुए हंगामे को लेकर मुकदमे को लेकर कन्हैया ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अपने राजनीतिक विरोधियों को चुप कराने, उनके साथ बुरा सलूक किए जाने तथा उनपर फर्जी मुकदमा दायर करने के लिए चिकित्सक जैसे पेशे का और एम्स जैसे प्रतिष्ठित स्वायतशासी संस्थान का गैरजरूरी इस्तेमाल किया.

मंगल पांडेय पर पलटवार

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के इसको लेकर उनपर किए गए प्रहार पर कन्हैया ने पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि जो स्वयं ‘गुंडा’ होते हैं उन्हें हर कोई ‘गुंडा’ ही नजर आता है . उन्होंने आरोप लगाया कि पांडेय का अपने विभाग की कुव्यवस्था को लेकर कोई बयान नहीं आता है पर कन्हैया कुमार के बारे में उनका तुरंत बयान आता है जो अपने आप में एक राजनीतिक साजिश है .

इसे भी पढ़ेंःसीबीआई मुख्यालय सील, एम नागेश्वर राव बने नये डायरेक्टर, वर्मा व अस्थाना भेजे गये छुट्टी पर

बीजेपी पर निशाना

Related Posts

पांच प्रतिशत अतिरिक्त महंगाई भत्ता के साथ अक्टूबर महीने का वेतन देगी बिहार सरकार 

अतिरिक्त महंगाई भत्ता से राज्य सरकार के खजाने पर 1,048 करोड़ रुपये का बोझ आने का अनुमान

WH MART 1

कन्हैया ने कहा कि बेगूसराय की घटना की आड़ में उन्हें हिन्दू विरोधी बताने की कोशिश की जा रही है. मैं किसी धर्म का विरोधी नहीं हूं बल्कि धार्मिक कुरीति का विरोधी हूं. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अलग-अलग समय में विभिन्न पेशे से जुड़े हुए लोगों का और उनकी भावना एवं आस्था का इस्तेमाल कर अपने राजनीतिक विरोधियों को चुप कराना चाहती है .

यह पूछे जाने कि बिहार की पिछली महागठबंधन सरकार के कार्यकाल के दौरान राजकीय अतिथि बना कर पटना बुलाये जाने और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा सम्मान दिए जाने के बावजूद यहां आप अपने खिलाफ साजिश रचे जाने का आरोप लगा रहे हैं. इस पर कन्हैया ने कहा कि जिन लोगों ने उनके आंदोलन के दौरान समर्थन दिया उनके हम शुक्रगुजार हैं. लेकिन अगर उनके शासनकाल में कोई कुव्यवस्था दिखेगी तो उस पर सवाल भी पूछेंगे.

इसे भी पढ़ेंःपढ़िए डीसी पाकुड़ ने न्यूज विंग को नोटिस भेज कर क्या कहा और उसपर डीसी दिलीप कुमार झा का क्या है पक्ष

मुजफ्फरपुर में एक बालिका गृह में लड़कियों के यौन शोषण के मामले को लेकर कन्हैया ने कहा कि उस मामले की जांच में हुआ विलंब अपने आप में सवाल खड़े करता है. जदयू से जुड़े मंत्री का इस्तीफा हुआ लेकिन भाजपा से जुडे लोगों का इस्तीफा नहीं हुआ. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए कन्हैया ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री अपनी सरकार के भीतर हो रही गड़बड़ी पर चुप हैं. प्रधानमंत्री एक शब्द भी नहीं बोल रहे हैं.

कन्हैया ने आगामी 25 अक्तूबर को पटना में भाकपा द्वारा प्रस्तावित ‘‘भाजपा हराओ देश बचाओ’’ रैली का जिक्र करते हुए कहा कि इसमें कांग्रेस और राजद सहित सभी गैर राजग दलों को आमंत्रित किया गया है.

इसे भी पढ़ेंःराज्य प्रशासनिक सेवा के छह अफसर बर्खास्तगी के बॉडर्र लाइन पर, पांच हो चुके हैं डिसमिस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like