न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जमीन अधिग्रहण रुकने से नहीं हो पा रहा डोरंडा के घाघरा में हॉस्पिटल निर्माण कार्य

24

Ranchi : एक तरफ राज्य की रघुवर सरकार ने राज्य के कैंसर से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए शानिवार को कांके स्थित रिनपास परिसर में कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास किया, वहीं दूसरी ओर रांची नगर निगम अपने द्वारा बनाये जानेवाले एक हॉस्पिटल को लेकर थोड़ा भी सजग नहीं दिख रहा है. मामला निगम क्षेत्र में डोरंडा इलाके के घाघरा में बननेवाले सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल से जुड़ा हुआ है. बता दें कि करीब तीन साल पहले रांची नगर निगम ने घाघरा में दो एकड़ भूखंड पर चेन्नई अपोलो द्वारा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाये जाने के लिए प्रयास किया था. अस्पताल निर्माण को लेकर निगम ने चेन्नई अपोलो को टोकन मनी पर जमीन भी दे दी, लेकिन अभी तक इसका निर्माण कार्य पूरा होना तो दूर, इसकी शुरुआत भी नहीं हो सकी है. इस मामले में निगम के एक अधिकारी ने न्यूज विंग को हॉस्पिटल शुरू नहीं होने के पीछे का कारण यह बताया है कि पहुंच पथ पर अतिक्रमण होने के कारण अब तक इस अस्पताल का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है. ऐसे में यह कहना मुश्किल लग रहा है कि आखिर उस अस्पताल का निर्माण कार्य कब तक शुरू होगा. सबसे आश्चर्य की बात यह है कि इसकी स्पष्ट जानकारी निगम अधिकारियों के पास भी नहीं है.

इसे भी पढ़ें- जुर्माना लगने पर भी नहीं सुधर रहे चालक, बिना परमिट के एमजी रोड में दौड़ा रहे हैं 250 ई-रिक्शा

जमीन अधिग्रहण नहीं होने से रुका है निर्माण कार्य

हॉस्पिटल नहीं बनने की जानकारी देते हुए निगम के एक सूत्र ने बताया कि जिस दो एकड़ भूखंड पर हॉस्पिटल बनना है, उस भूखंड तक जाने के लिए 10 फीट का रास्ता जाता था. हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने निगम के समक्ष यह शर्त रखी थी कि काफी बड़ा हॉस्पिटल होने के कारण वाहनों की आवाजाही यहां बढ़ेगी, इसलिए इस पहुंच पथ को कम से कम 80-100 फीट चौड़ा किया जाये, ताकि बिना किसी रुकावट के वाहन यहां बननेवाले हॉस्पिटल तक आ-जा सकें. ऐसे में हॉस्पिटल तक पहुंचने के लिए रास्ता बनाने के लिए यहां रहनेवाले रैयतों की कुछ डिसमिल जमीन का अधिग्रहण किया जाना था. लेकिन, जिला प्रशासन और निगम के अधिकारियों की सुस्त कार्रवाई के कारण हॉस्पिटल का निर्माण कार्य अभी तक शुरू नहीं हो पा रहा है.

इसे भी पढ़ें- देखें वीडियो : कैसे मामा ने भरी गोली और भांजे ने किया फायर, धनबाद एसएसपी ने कहा होगी कार्रवाई

लोगों को मिलता बेहतर इलाज

palamu_12

उस वक्त निगम की तरफ से यह भी कहा गया था कि चेन्नई अपोलो का यह हॉस्पिटल अगर राजधानी रांची में बन जाता, तो प्रतिवर्ष बेहतर इलाज के लिए वेल्लोर, चेन्नई जैसे शहरों का रुख करनेवाले लोगों को काफी राहत मिलती. आम लोगों को जो वहां जाकर इलाज के नाम पर मोटी रकम खर्च करनी पड़ती है, वह खर्च भी बच जाता.

इसे भी पढ़ें- पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की सुरक्षा से खिलवाड़ कर रही राज्य सरकार : झाविमो

अधिग्रहण की प्रकिया है जारी, जल्द शुरू होगा निर्माण कार्य : डिप्टी मेयर

इस मामले में डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय का कहना है कि राजधानी में बननेवाला यह हॉस्पिटल रांची नगर निगम का काफी अच्छा प्रोजेक्ट है. शनिवार को जिस तरह से राजधानी में कैंसर हॉस्पिटल का शिलान्यास किया गया, उससे इलाके के लोगों में भी उम्मीद जगेगी. इसके बनने से शहर के लोगों को बेहतर इलाज मिलना संभव हो पायेगा. जहां तक हॉस्पिटल बनाने में आड़े आ रहे जमीन अधिग्रहण की बात है, तो निगम की तरफ से बेहतर प्रयास किया जा रहा है. वहीं, जिस इलाके में हॉस्पिटल बननेवाला है, वहां के रैयत भी जागरूक हो गये हैं. अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है. बहुत जल्द निर्माण कार्य शुरू होगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: