DhanbadJharkhand

तीन करोड़ की लागत से बना अस्पताल शौचालय में तब्दील, खिड़की-दरवाजे व टाइल्स उखाड़कर ले गये चोर

Ranjit Kumar Singh

Dhanbad: झरिया के बनियाहीर में वर्ष 2009 में स्थानीय लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए भवन का निर्माण किया गया था. तीन करोड़ 53 लाख 59 हजार रुपये से इस भवन का निर्माण किया गया था.

अस्पताल निर्माण होने से स्थानीय लोगों में खुशी थी. उन्हें लगा था कि अब छोटी-छोटी बीमारियों के लिए धनबाद या अन्य जगह नहीं जाना पड़ेगा. लेकिन कुछ दिनों बाद ही उनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया. 2009 में बने भवन में अब तक अस्पताल चालू नहीं हो पाया. देखरेख के अभाव में भवन अब जर्जर होने लगा है. वहीं इस भवन का इस्तेमाल अब शौचालय के रूप में लोग करने लगे हैं.

इसे भी पढ़ें- #MP_Crisis: फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ ने छोड़ी सीएम की कुर्सी, थोड़ी देर में गवर्नर को सौंपेंगे इस्तीफा

असामाजिक तत्वों का बना अड्डा

इस संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि भवन बनने के बाद जिला प्रशासन ने इसमें अस्पताल चालू करने की प्रक्रिया ही शुरू नहीं की. अब स्थिति यह बन गयी है कि अस्पताल असामाजिक तत्वों का अड्डा बनकर रह गया है.

अस्पताल के लिए बनाये गये भवन की हालत जर्जर होती जा रही है. अब तक इसमें अस्पताल की शुरुआत नहीं हो सकी है. चोर यहां से टाइल्स दरवाजे और खिड़की तक उखाड़ कर ले गये.

अस्पताल की खिड़की, दरवाजे और टाइल्स की चोरी कर ली गयी है. इतना ही नहीं, अब स्थानीय लोगों ने इस अस्पताल को शौचालय बना दिया है. आसपास के लोग अब इसका इस्तेमाल शौच के लिए करते हैं. अब अगर इस अस्पताल को चालू करने की प्रक्रिया शुरू भी की जाती है तो इसके लिए फिर से करोड़ों रुपये खर्च करने होंगे.

इसे भी पढ़ें- विधानसभा में राहुल गांधी को पप्पू कहने पर हाथापाई की नौबत, सदन की कार्रवाई स्थगित

विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह से लोगों में उम्मीद

13 मार्च को झरिया विधानसभा की विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ने झारखंड विधानसभा में झरिया के बनियाहीर में बने करोड़ो की लागत से स्वास्थ्य केंद्र को चालू करने का प्रस्ताव रखा था.

भवन अब खंडर में तब्दील होने लगा है. लोग इस भवन का इस्तेमाल अब शौचालय के लिए करने लगे हैं. यहां एक भी खिड़की दरवाजे नहीं बचे हैं. दिवार भी कमजोर हो गये हैं.

उन्होंने कहा था कि इस अस्पताल के चालू होने से यहां के लोगों को काफी लाभ मिलेगा. विधायक की इस पहल के बाद स्थानीय लोगों की उम्मीद फिर एक बार जगी है. उनका कहना है कि अब देखिए झरिया विधायक की कोशिश रंग लाती है या फिर यह अस्पताल सिर्फ शौचालय बनकर ही रह जायेगा.

इसे भी पढ़ें- #CoronaStopKaroNa: भारत में 5वीं मौत, 200 पॉजिटिव केस

 

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button