न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

होमियोपैथ से इलाज safer, better, cheaper और quicker होता है : डॉ सुनील

सभी में होमियोपैथ की दवाइयां कारगर हैं.

321

Ranchi : वर्तमान समय में लोगों का होमियोपैथ की ओर ज्यादा झुकाव हो रहा है. लोग पहली प्राथमिकता इसी देते हैं, क्योंकि होमियोपैथ से ट्रीटमेंट सेफर, बेटर, चीपर एवं क्विकर होता है. उक्त बातें होमियोपैथ के चिकित्सक डॉ सुनील कुमार शर्मा ने न्यूज विंग के साथ हुई खास बातचीत में कही. होमियोपैथ से संबंधित और भी कई बातों की डॉ सुनील ने जानकारी दी. पेश हैं उनसे खा बातचीत के मुख्य अंश :-

सवाल : होमियोपैथ में बीमारियों का इलाज कितना कारगर है?

जवाब : होमियोपैथ की दवा सभी बीमरियों में बहुत ही ज्यादा कारगर है. जितनी भी पुरानी बीमारियां हैं, जटिल से जटिल बीमारी, सभी में होमियोपैथ की दवाइयां कारगर हैं. पुरानी और जटिल बीमारियों का इफेक्टिव  ट्रीटमेंट होमियोपैथ में ही है.

इसे भी पढ़े : बस किराये में 30 फीसदी की वृद्धि, 11 सितंबर से लागू होगा नया किराया, 10 को बंद रहेगा परिचालन : बस…

सवाल : किस-किस प्रकार की बीमारियों का इलाज होमियोपैथ से हो सकता है?

जवाब : किसी भी तरह की पुरानी बीमारी, जैसे- एग्जिमा, साइटिका, नर्व्स की समस्या, माइग्रेन आदि सभी में होमियोपैथ से इलाज किया जाता है.

सवाल : गंभीर बीमारियों के इलाज में होमियोपैथ कितना कारगर हो सकता है?

जवाब : लक्षण के अनुसार यह देखना होता है कि बीमारी किस स्टेज पर है. उसके तहत इलाज किया जाता है. गंभीर तो बहुत सारी बिमारियां होती हैं, लेकिन लक्षण के आधार पर ही इलाज होता है. मेडिसीन इसके लिए पूरे कारगर हैं.

सवाल : लोग एलोपैथ की तरफ ही ज्यादा भागते हैं, ऐसे में कितने मरीज ऐसे हैं जो होमियोपैथ से इलाज कराना चाहते हैं?

जवाब : आज के दिनों में कई सारे लोगों का झुकाव होमियोपैथ की ओर हुआ है. होमियोपथ लोगों की पहली प्राथमिकता रहती है. होमियोपैथ से सुरक्षित,  गुणवत्तापूर्ण, जल्दी और बेहतर ट्रीटमेंट लोगों को मिलता है.

इसे भी पढ़े : भाकपा (माओवादी) में नेतृत्व का संकट

सवाल : होमियोपैथ से धीमी गति से इलाज होता है, यह कितना सही है?

जवाब : ऐसी कोई बात नहीं है कि होमियोपैथ में स्लो ट्रीटमेंट होता है. जिस प्रकार की बीमारी होती है, इलाज वैसा ही किया जाता है. लेकिन, जिस बीमारी को समय लेकर ठीक होना है, वह समय लेगा ही. चाहे उसका इलाज एलोपैथिक हो, आयुर्वेदिक हो या होमियोपैथिक से हो.

कई फेक चिकित्सक भी कर रहे हैं प्रैक्टिस

डॉ सुनील शर्मा ने बताया कि होमियोपैथ में कई लोग ऐसे भी हैं, जो फर्जी चिकित्सक बनकर लोगों को लूटने का काम कर रहे हैं. ऐसे लोग बीमारी का इलाज नहीं कर पाते, सिर्फ ट्रीटमेंट के नाम पर लोगों को लूटते हैं. ऐसे लोगों की वजह से पूरे होमियोपैथिक चिकित्सक बदनाम हो जाते हैं. यही लोग होमियोपैथ से ट्रीटमेंट के विकास में बाधक बने हुए हैं. सरकार को मुहिम छेड़कर ऐसे लोगों की पहचान कर उनके साथ कठोर कार्रवाई करनी चाहिए.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: