National

जम्मू कश्मीर के हालात पर इस्तीफा देनेवाले आइएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन को गृह मंत्रालय ने नोटिस भेजा

विज्ञापन

New Delhi: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आइएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी है. श्री गोपीनाथन ने जम्मू कश्मीर में प्रतिबंधों को लेकर अगस्त में इस्तीफा दे दिया था.

वर्ष 2012 बैच के अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित क्षेत्र (एजीएमयूटी) कैडर के आइएएस अधिकारी गोपीनाथन ने अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के मद्देनजर जम्मू कश्मीर में प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फैसले को अनुचित बताते हुए त्यागपत्र भेज दिया था. प्रतिबंधों को उन्होंने ‘‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता से वंचित करना’’ करार दिया था.

advt

इसे भी पढ़ें – PM किसान सम्मान निधि: 1st फेज चुनाव वाले 13 विधानसभा क्षेत्र के 4.64 लाख में से 3.70 लाख किसानों को नहीं मिली तीसरी किस्त

स्वामीनाथन ने गृह मंत्रालय द्वारा खुद को जारी किये गये नोटिस को अपने टि्वटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए कहा कि उन पर संभवत: ये आरोप लगाये गये हैं कि उन्होंने ‘‘सरकार की नीतियों पर अनधिकृत रूप से प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया से बात कर विदेशी देश सहित अन्य संगठनों से केंद्र के संबंधों को उलझन में डाला है.’’

अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू

गृह मंत्रालय ने अपने नोटिस में कहा है कि अखिल भारतीय सेवाएं (अनुशासन और अपील) नियम 1969 के तहत गोपीनाथन के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की जा रही है.

adv

इसे भी पढ़ें – #Kharsawan सीट के लिए अर्जुन मुंडा का प्लान: (A) पत्नी मीरा मुंडा को टिकट दिलाना, (B) मंगल सोय को आगे करना

मंत्रालय ने कहा कि अधिकारी का त्यागपत्र ‘‘सक्षम प्राधिकार के अधीन लंबित निर्णय परीक्षण की स्थिति में है.’’ इसमें अधिकारी से 15 दिन के भीतर जवाब देने को कहा है.

गोपीनाथन विद्युत विभाग, केंद्रशासित क्षेत्र दमन दीव और दादर नगर हवेली के सचिव थे. उन्होंने 21 अगस्त को गृह मंत्रालय को अपना इस्तीफा भेजा था.

अधिकारियों ने इसके एक सप्ताह बाद उनसे कहा था कि वह ड्यूटी शुरू करें और इस्तीफा स्वीकार होने तक काम करना जारी रखें.

इसे भी पढ़ें – अयोध्या फैसला : आरपीएफ के जवानों की छुट्टियां रद्द, 78 प्रमुख स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ायी गयी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close