National

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, देश में एक भी #DetentionCente नहीं बनाया जा रहा है…

NewDelhi : गृह मंत्री अमित शाह ने  डिटेंशन सेंटर बनाये जाने की अटकलों के बीच कहा है कि देश में एक भी डिटेंशन सेंटर नहीं बनाया जा रहा है.  कहा कि असम में एक डिटेंशन सेंटर सालों पहले बनाया गया था, जिसे मोदी सरकार ने नहीं बनाया था. जान लें कि अमित शाह ने समाचार एजेंसी ANI को दिये साक्षात्कार में मंगलवार को कहा कि डिटेंशन सेंटर का NCR या CAA से कोई लेनदेना नहीं है.  कहा, डिटेंशन सेंटर का CAA से तो  दूर-दूर का वास्ता नहीं है.

अमित शाह ने कहा कि CAA में शरणार्थी को नागरिकता देने का प्रावधान है, लेने का नहीं तो फिर इसके तहत कोई शरणार्थी को अवैध ठहराया  नहीं जा सकता है. गृह मंत्री अमित शाह के अनुसार CAA जब किसी को घुसपैठिया नहीं ठहराता है, तो इसकी वजह से किसी को डिटेंशन सेंटर में रखने का सवाल ही कहां उठता है. इस क्रम में बताया कि असम में एक डिटेंशन सेंटर सालों पहले बनाया गया था, , जिसे मोदी सरकार ने नहीं बनाया था.

इसे भी पढ़ें : सीएम ममता बनर्जी ने केंद्र पर साधा निशाना : अपने राज्यों की चिंता करे, जो भी हैं वो भी हाथ से जायेंगे

19 लाख लोग NRC में नहीं आ पाये हैं,  वे अपने घरों में ही रह रहे हैं

शाह ने  बताया कि असम NRC लिस्ट में 19 लाख लोगों का नाम नहीं आया, लेकिन उनमें से एक व्यक्ति को भी डिटेंशन सेंटर नहीं भेजा गया.  शाह ने जानकारी दी कि  असम के NRC में कुछ लोग घुसपैठियों के रूप में पहचाने गये तो उन्हें छह महीने का समय दिया गया है कि वे फॉरन ट्राइब्यूनल में अपना पक्ष रख सकें.

साथ ही कहा कि अगर उनके पास पैसे नहीं हैं तो केंद्र सरकार या राज्य सरकार के खर्च पर वकील की व्यवस्था की जायेगी.  गृह मंत्री ने कहा, हमने कई ट्राइब्यूनल्स बनाये, किसी को भी डिटेंशन सेंटर में नहीं रखा. कहा कि असम में जो 19 लाख लोग NRC में नहीं आ पाये हैं,  वे अपने घरों में ही रह रहे हैं, उन्हें डिटेंशन सेंटर में नहीं रखा गया है.

इसे भी पढ़ें : चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का नया पद बनाने को कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्योरिटी ने दी मंजूरी

देश में बस एक ही डिटेंशन सेंटर असम में है

गृह मंत्री ने कहा, आप अवैध रूप से भारत में रह रहे व्यक्ति को पकड़कर जेल में नहीं रख सकते.  उसको डिटेंशन सेंटर में रखा जाता है.  फिर उसके देश से बात कर उसे वापस भेजा जाता है. बताया कि  देश में यही (असम)एक डिटेंशन सेंटर है, वह भी फंक्शनल नहीं है.  उन्होंने कहा, डिटेंशन सेंटर कहीं नहीं बनेगा, एक बना हुआ है असम में और वह सालों से है.

कर्नाटक में भी कोई डिटेंशन सेंटर नहीं है.  देश में बस एक ही डिटेंशन सेंटर असम में है.  हालांकि, शाह ने कहा कि वह इसपर पूरी तरह आश्वस्त नहीं हैं.  उन्होंने कहा कि कोई डिटेंशन सेंटर फंक्शनल नहीं है और न मोदी सरकार के बाद कोई डिटेंशन सेंटर बना है.

इसे भी पढ़ें : #CBI करेगी 126 करोड़ के यमुना एक्सप्रेस-वे घोटाले की जांच, पूर्व CEO समेत 21 के खिलाफ मामला दर्ज

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: