JharkhandLead NewsRanchi

होली: सोनचिरैया ब्रांड की गुझिया, निमकी की खुशबू एक बार फिर राजधानी के बाजार में महक रही

कपड़े से लेकर धूपबत्ती भी मिल रहा

Ranchi : झारखंड में अब शहरी क्षेत्र की महिलाओं का हुनर अब बाजारों तक पहुंच रहा है. महिलाओं की हुनर की पहचान कर सरकार ने अब इनकी ब्रांडिंग करने की तैयारी शुरू कर दी है. डे एनयूएलएम के तहत महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने तथा सामाजिक उत्थान और स्वावलंबी बनाने में इस तरह की पहल कारगर साबित हो रही है. इस बार होली पर्व के अवसर पर डे-एनयूएलएम योजना के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा बनाये गये सोनचिरैया ब्रांड के विभिन्न उत्पाद बाजार में बिक्री के लिए उतारे गये हैं.

इसके तहत गुजिया, ठेकुआ, निमकी, लौंगलता बनाये गये हैं. स्वयं सहायता समूह की दीदियों द्वारा शुद्धता का ख़्याल रखते हुए शुद्ध घी एवं शुद्ध खोआ के मिश्रण से इसका उत्पादन शुरू किया गया है.

इसे भी पढे़ं:Ind Vs SL 2nd Test: बेंगलुरु टेस्ट में भारत की शानदार जीत, टेस्ट सीरीज पर 2-0 से कब्जा

Catalyst IAS
ram janam hospital

इस कार्य को पूरा करने में स्वयं सहायता समूह की 7 दीदियां लगी हुई हैं. शुद्ध देशी घी, ऑर्गेनिक खजूर, गुड़, इलायची, ड्राइ फ्रूट्स एवं ताजे खोवे से निर्मित गुजिया, पेड़किया के माध्यम से महिलाओं के आर्थिक संवर्धन पर जोर दिया जा रहा है. वहीं, सोनचिरैया ब्रांड के तहत धूपबत्ती बना कर बिक्री के लिए बाजार में उतारा गया है.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

आकृति स्वयं सहायता समूह की दीदियों द्वारा इस धूपबत्ती को तीन विभिन्न प्रकार के सुगंधों में बनाया गया है. प्रत्येक का मूल्य 25/- रुपये प्रति बॉक्स है.

इसे भी पढे़ं:सुप्रीम कोर्ट ने छठी JPSC मामले में झारखंड सरकार और आयोग को दिया नोटिस, 31 मार्च को अगली सुनवाई

वहीं, होली के पावन अवसर पर स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं द्वारा लड़कों के लिए आधुनिक व परंपरागत डिजाइन में किफायती दाम मात्र 500/- रुपये में कुर्ता-पायजामा का सेट तथा ट्रेंडिंग व मॉडर्न डिजाइन में लड़कियों के लिए भी मात्र 500/- रुपये में कुर्ती, लेगिन्स और स्टॉल तैयार कर बिक्री के लिए मधुपुर के बाजार में उतारा गया है.

इसे भी पढे़ं:मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा पर भड़के, हुई तीखी नोकझोंक

काफी किफायती दाम

इस उत्पाद में मावा गुझिया 500 ग्राम के पैकेट को तीन सौ रुपये तथा निमकी 1 किलोग्राम के पैकेट को 160 रुपये में उतारा गया है. गुझिया को तीन प्रकारों में किफायती दामों पर बाजार में उतारा गया है. इसकी सबसे खास बात यह है कि गुझिया की सभी सामग्री एवं आकर्षक पैकेजिंग समूह द्वारा खुद से की गयी है.

होम डिलीवरी या अत्यधिक मात्रा में उपलब्ध कराने के लिए कोई भी व्यक्ति व्हाट्सप नंबर 7766817777 पर 24 घंटे पहले मैसेज अथवा कॉल कर के ऑर्डर कर सकता है.

इसे भी पढे़ं:माले विधायक बिनोद सिंह ने उठाया सवाल- कैसे प्रवीण चंद्र मिश्रा को बनाया गया सीनियर कंसल्टेंट ऑफिसर

Related Articles

Back to top button