न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

होली में शराब पीने को लेकर पति-पत्नी में हुआ विवाद, पति ने की आत्महत्या

321

Chatra: होली के दिन शराब पीना युवक को काफी महंगा पड़ गया. शराब पीने की बात को लेकर पति-पत्नी के बीच हुए विवाद में पति अशोक लोहार (35) ने फांसी लगा कर जान दे दी. यह घटना गुरुवार देर शाम की है. यह मामला राजपुर थाना क्षेत्र के चिरिदिरी पंचायत अंतर्गत लोहार पट्टी गांव का है. प्राप्त जानकारी के अनुसार होली के दिन अशोक अपने दोस्तों के साथ शराब पीकर घर पहुंचा. और शराब पीने की बात को लेकर अशोक व उसकी पत्नी लता के बीच विवाद होने लगा. विवाद इतना बढ़ गया कि अशोक ने बिना सोचे-समझे अपनी जीवन लीला ही समाप्त कर ली.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – थाना प्रभारी और एएसआइ के बीच हुई मारपीट, एएसआइ ने चलायी गोली, नौ साल के बच्चे को लगी

बेडरूम में लगा ली फांसी

मिली जानकारी के अनुसार अशोक ने अपनी पत्नी के साथ हुए विवाद के पश्चात किसी को कुछ नहीं बताया और  अपने बेडरूम में चला गया. इधर परिजनों ने सोचा कि विवाद होने के पश्चात वह सोने चला गया. लेकिन अशोक ने अपने बेडरूम में सीढ़ी के सहारे से फांसी लगा ली. कुछ देर बाद अशोक की मां खाना खाने के लिए अशोक को उठाने पहुंची. अशोक को फांसी के फंदे से झूलता देखा. उन्होंने इसकी जानकारी घर वालों को दी. परिजनों ने आनन-फानन में फांसी के फंदे से अशोक को उतारा और इलाज कराने के लिए चतरा सदर अस्पताल ले गए. जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. इधर घटना की जानकारी मिलते ही राजपुर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन की. शव पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है. शुक्रवार को गांव स्थित श्मशान घाट पर उसका अंतिम स्कार किया गया.

इसे भी पढ़ें – वाम दल आपसी सहमति बनायें, एक सीट छोड़ने पर विचार करेगी कांग्रेसः सुबोधकांत

Related Posts

पलामू : डायरिया से बच्चे की मौत, माता-पिता व भाई गंभीर, गांव में दर्जन भर लोग पीड़ित

स्वास्थ्य विभाग के डायरिया नियंत्रण की खुली पोल, आनन-फानन में कुछ लोगों को एंबुलेंस से भेजा अस्पताल

एक सप्ताह पहले ही लौटा था घर

अशोक घर से बाहर कर्नाटक में रह कर किसी कंपनी में काम किया करता था. होली मनाने एक सप्ताह पूर्व ही घर लौटा था. पत्नी के ताने और विवाद के कारण उसने आत्महत्या कर ली. अशोक अपने पीछे 10 साल का लड़का और 7 साल की पुत्री छोड़ गया है.

इसे भी पढ़ें – सदर अस्पताल में सात दिनों से एंटी रैबीज इंजेक्शन नहीं, 55 रेफर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: