न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

8 अक्टूबर का इतिहास: प्रेमचंद की पुण्यतिथि और जानें इस दिन क्‍या–क्‍या हुआ खास

118

New Delhi: 8 अक्टूबर की तारीख इतिहास में धनपत राय श्रीवास्तव की पुण्यतिथि के तौर पर दर्ज है. कुछ लोगों को यह नाम कुछ अनजाना सा लग सकता है, लेकिन अगर कहें कि आठ अक्टूबर 1936 को मुंशी प्रेमचंद का निधन हुआ तो कलम के जादूगर को हर कोई पल में पहचान जाएगा.

हिन्दी और उर्दू के महानतम लेखकों में शुमार मुंशी प्रेमचंद को शरतचंद्र चट्टोपाध्याय ने उपन्यास सम्राट कहकर संबोधित किया था. प्रेमचंद ने हिन्दी कहानी और उपन्यास की एक ऐसी परंपरा का विकास किया जिसने पूरी सदी के साहित्य का मार्गदर्शन किया. साहित्य की यथार्थवादी परंपरा की नींव रखने वाले प्रेमचंद का लेखन हिन्दी साहित्य की एक ऐसी विरासत है, जो हिन्दी के विकास की यात्रा को संपूर्णता प्रदान करती है.

8 अक्टूबर की तारीख में दर्ज देश-दुनिया की अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-

  • 1936: हिंदी और उर्दू साहित्य को अपने उपन्यासों और लघु कथाओं से समृद्ध करने वाले मुंशी प्रेमचंद का निधन.
  • 1952: हैरो में तीन रेलगाड़ियां टकराने से कम से कम 85 लोगों की मौत. इसे ब्रिटेन में शांतिकाल की भीषणतम रेल दुर्घटना माना जाता है.
  • 1957: उत्तर पश्चिमी इंग्लैंड में विंडस्केल परमाणु संस्थान में भीषण आग लगने से 16 घंटे में 10 टन रेडियोधर्मी ईंधन पिघल गया।
  • 1967: क्यूबा की क्रांति में बड़ी भूमिका निभाने वाले दक्षिण अमेरिकी छापामार नेता चे गुवेरा को बोलिविया की सेना ने पकड़ लिया और बाद में मौत के घाट उतार दिया.
  • 2001: इटली में तीस वर्ष के सबसे बुरे असैनिक हादसे में मिलान के लिनाते हवाई अड्डे पर एक वाहन उड़ान भरने को तैयार वाहन से टकराया, जिससे विमान में विस्फोट हो गया और 118 लोगों की मौत हो गई.
  • 2005: पाकिस्तान के पश्चिमोत्तर प्रांत और कश्मीर में आए भीषण भूकंप में कम से कम 79,000 लोगों की मौत.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: