न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इतिहास के पन्नों में खास है 31 मार्च, अंबेडकर को मिला था मरणोपरांत भारत रत्न

75

New Delhi : साल के 365 दिन इतिहास में तरह-तरह की घटनाओं के साथ दर्ज हैं. इनमें कुछ अच्छी हैं तो कुछ बुरी. 31 मार्च का दिन भी ऐसी ही बहुत सी घटनाओं का साक्षी रहा है.

ऐसी ही एक घटना की बात करें तो देश के संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर को 31 मार्च 1990 को मरणोपरांत सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. इसके साथ ही देश और समाज के प्रति उनके अमूल्य योगदान को नमन भी किया गया.

‘बाबासाहब’ भीमराव आंबेडकर ने भारत की आज़ादी की लड़ाई में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया था. जीवनभर सामाजिक भेदभाव के खिलाफ लड़ते रहे. आजादी के बाद उनकी भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो गई जब उन्हें राष्ट्र के संविधान निर्माण का दायित्व सौंपा गया.

इसे भी पढ़ें : लोस चुनाव को लेकर वाहन चेकिंग अभियान में पुलिस को मिली सफलता, हथियार के साथ बिहार के दो अपराधी…

देश दुनिया के इतिहास में 31 मार्च की तारीख पर महत्वपूर्ण घटनाओं

  • 1504 : सिखों के गुरु अंगद देव जी का जन्म। वह गुरू नानक देव जी के बाद सिखों के दूसरे गुरू थे.
  • 1727 : दुनिया के महान भौतिकशास्त्रियों में शुमार आइजैक न्यूटन का 84 वर्ष की आयु में लंदन में निधन.
  • 1774 : भारत में डाक सेवा शुरू, पहला डाकघर खुला.
  • 1870 : अमेरिका में पहली बार किसी अश्वेत नागरिक ने वोट दिया. अश्वेतों को समान अधिकार दिलाने की दिशा में यह एक बड़ी कामयाबी थी.
  • 1889 : पेरिस का मशहूर एफेल टावर आधिकारिक तौर पर खुला.
  • 1959: तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा अपने 20 शिष्यों के साथ भारत की सीमा में पहुंचे. वह 17 मार्च को तिब्बत की राजधानी ल्हासा से पैदल रवाना हुए थे और खेनजीमन दर्रे से होते हुए सकुशल भारत पहुंच गए.
  • 1980 : अमेरिका के महान फर्राटा धावक जेसी ओवंस का निधन. ओवंस ने 1936 के बर्लिन ओलंपिक खेलों में अपने देश के लिए चार स्वर्ण पदक जीते थे.
  • 1981: एक घरेलू विमान का अपहरण करने वाले इंडोनेशिया के पांच आतंकवादियों में से चार को थाइलैंड के बैंकाक में मार गिराया गया. विमान में सवार सभी 55 लोग सुरक्षित। आतंकवादियों ने इंडोनेशिया की जेलों में बंद 80 लोगों को रिहा करवाने के लिए 28 मार्च को विमान का अपहरण किया था और उसे बैंकाक ले गए थे.
  • 1983 : कोलम्बिया में भूकंप से लगभग 5000 लोगों की मौत.
  • 1989 : पेरिस की पहचान माने जाने वाले विशाल एफेल टावर को आधिकारिक तौर पर खोला गया. फ्रांस की क्रांति की शताब्दी के मौके पर बनी 300 मीटर ऊंची लोहे की इस इमारत को गुस्ताव एफेल की प्राद्यौगिक कुशलता का बेमिसाल नमूना माना जाता है.
  • 1990 : संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर को सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से मरणोपरांत सम्मानित किया गया.
  • 2004 : अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में एक नाइट क्लब में आग लगने से 175 लोगों की मौत.

इसे भी पढ़ें : पलामू : जमाने के साथ बहुत कुछ बदला, 1970 के दशक में जनप्रतिनिधि धनबल से नहीं, जमीनी पकड़ से जीतते थे…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: