Court NewsLead NewsNational

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम का ऐतिहासिक कदम, भारत के पहले समलैंगिक जज बन सकते हैं सौरभ कृपाल

दिल्ली हाई कोर्ट का जज बनाने की पांचवी बार हुई है सिफारिश

New Delhi : सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने सीनियर अधिवक्ता सौरभ कृपाल को दिल्ली हाई कोर्ट के जज बनाने की सिफारिश की है. बता दें कि कॉलेजियम का यह कदम ऐतिहासिक है क्योंकि ये पहली बार है जब सुप्रीम कोर्ट ने किसी समलैंगिक को हाई कोर्ट का जज बनाने की सिफारिश की है.

अगर कॉलेजियम की इस सिफारिश को मंजूरी मिलती है तो सौरभ कृपाल भारत के पहले समलैंगिक जज बन जाएंगे. बता दें कि सौरभ कृपाल सार्वजनिक रूप से खुद को समलैंगिक बताते हैं और समलैंगिक मुद्दों को लेकर आवाज उठाते रहते हैं.

advt

इसे भी पढ़ें : न्यूजीलैंड की T20 टीम का ऐलान, विलियमसन की छुट्टी ! जानिए कौन करेगा Ranchi में होनेवाले मैच की कप्तानी

इंदिरा जयसिंह बोलीं, समावेशी न्यायपालिका बनने जा रहे हैं

सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी बयान के अनुसार 11 नवंबर को कॉलेजियम की मीटिंग के दौरान इस संबंध में फैसला लिया गया. कॉलेजियम के फैसले पर सीनियर अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने खुशी जताते हुए ट्विटर पर लिखा कि, सौरभ कृपाल को बधाई जो देश में एक हाई कोर्ट के पहले समलैंगिक जज होंगे. आखिरकार हम यौन व्यभिचार के आधार पर होने वाले भेदभाव को खत्म कर एक समावेशी न्यायपालिका बनने जा रहे हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक यह चौथी बार था जब सौरभ कृपाल के अक्टूबर 2017 में दिल्ली हाई कोर्ट कॉलेजियम द्वारा सर्वसम्मति से नाम की सिफारिश के बाद भी पदोन्नति पर अंतिम निर्णय टाल दिया गया था.

इसे भी पढ़ें : दिल्ली में करती है मॉडलिंग और रांची में ब्राउन शुगर की सप्लाई, गिरफ्तार

कौन है सौरभ कृपाल?

 

दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से स्नातक सौरभ कृपाल ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से कानून में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की. उसके बाद कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री प्राप्त की. जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के साथ कुछ समय के कार्यकाल के बाद दो दशकों से अधिक समय तक सौरभ कृपाल ने भारत के सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस की.
सौरभ कृपाल नवतेज सिंह जौहर बनाम भारत संघ के मामले में भी याचिकाकर्ताओं के वकील थे जिसमें सितंबर 2018 में सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने धारा 377 को रद्द कर दिया था.

इसे भी पढ़ें : भाषाई विवाद में फंसी कांग्रेस विधायकों की प्रतिष्ठा, हुआ सांप-छुछुन्दर वाला हाल

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: