न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने ट्वीटर से विवादित तस्वीर डिलीट की, मिल रही थी धमकियां

गुहा ने ट्वीट में अपनी पुरानी बात दुहराते हुए लिखा कि मेरे हिसाब से लोगों के पास खाने, पहनने और प्यार करने का अधिकार होना ही चाहिए.

64

Bengaluru :  इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने दो दिन पूर्व ट्विटर पर अपलोड की गयी अपनी बीफ खाने वाली  तस्वीर डिलीट कर दी है.  इस तस्वीर में वह भाजपा शासित प्रदेश में बीफ खाने की बात कर रहे थे.  रामचंद्र गुहा के अनुसार इस ट्वीट के बाद से ही उन्हें धमकियां मिलनी शुरू हो गयी थीं.  रामचंद्र गुहा ने रविवार को वह ट्वीट हटाते हुए इस बात को माना कि यह सही नहीं था.  भाजपा के घोर आलोचक गुहा ने कहा कि विवादित ट्वीट का मकसद बीफ पर भगवा पार्टी के पाखंड को आड़े हाथों लेना था.  इस क्रम में उन्होंने दावा किया कि उन्हें धमकी भरे फोन आ रहे थे. एक अन्य ट्वीट में गुहा ने लिखा कि उन्होंने गोवा में लंच की तस्वीर को डिलीट कर दिया है.  यह स्वाद में बहुत खराब था. उन्होंने लिखा कि वह फिर बीफ के मामले में भाजपा के घोर पाखंड को उजागर करते रहेंगे.  बता दें कि गुहा ने ट्वीट में अपनी पुरानी बात दुहराते हुए लिखा है कि मेरे हिसाब से लोगों के पास खाने, पहनने और प्यार करने का अधिकार होना ही चाहिए.  उन्होंने कहा, ‘तस्वीर के केंद्र में खुद को रखना दिखावटी और खराब था.  मैं शब्दों के जरिए भी अपनी बात रख सकता था, जैसा कि मैंने अभी किया है.  बता दें कि बीफ के साथ फोटो अपलोड करने के बाद गुहा कई दक्षिणपंथी संगठनों के निशाने पर आ गये थे.  इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी उन्हें काफी ट्रोल किया गया.  

 हिंदू बीफ खाये और इसका प्रचार करे तो वह इस धर्म पर कलंक है

 उन्हें और उनकी पत्नी को धमकियां भी मिली थीं.  गुहा ने खुद ट्वीट कर यह बात जानकारी दी. गुहा बताया कि उन्हें किसी संजय नाम के शख्स ने दिल्ली से फोन किया और धमकी दी.  उन्होंने बताया कि उसने उनके साथ उनकी पत्नी को भी धमकी दी.  कुछ ही देर बाद गुहा ने आरके यादव नाम के किसी शख्स का ट्वीट संलग्न करते हुए बताया, धमकी भरा यह ट्वीट रिसर्च एंड एनालिसिस विंग के एक पूर्व अधिकारी का है.  मैं इसे जानकारी के लिए सामने रख रहा हूं और मुझे मिलने वाली हर धमकी के साथ यही करूंगा.  आरके यादव की ट्वीट में लिखा था कि यदि कोई हिंदू बीफ खाये और इसका प्रचार करे तो वह इस धर्म पर कलंक है.  लिखा कि रामचंद्र गुहा नाम का एक आदमी ऐसा कर रहा है.  वह ऐसा प्रचार कर इस घृणित कृत्य के द्वारा सभी हिंदुओं को उकसाने की कोशिश कर रहा है.  उन्हें करारा जवाब दिया जाना चाहिए.

hotlips top

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like