न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा को झटकाः राष्ट्रीय प्रवक्ता, प्रदेश अध्यक्ष का इस्तीफा

442

Patna: बिहार में महागठबंधन में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) को झटका लगा है. दरअसल बुधवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वृषण पटेल और राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और एकदूसरे के खिलाफ तीखे हमले किये.

राष्ट्रीय प्रवक्ता, प्रदेश अध्यक्ष का इस्तीफा

रिजवान द्वारा इस्तीफा देने और उसकी प्रति सोशल मीडिया पर साझा करने तथा पटेल पर पार्टी धनराशि का दुरुपयोग करने का आरोप लगाने के कुछ ही देर बाद प्रदेश अध्यक्ष ने भी यह घोषणा की कि वह भी हम छोड़ रहे हैं.

hosp3

पटेल ने कहा कि वह मांझी द्वारा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के धरने की आलोचना किये जाने से निराश हैं, क्योंकि यह महागठबंधन के रुख के खिलाफ है. पटेल ने यह भी कहा कि वह मांझी द्वारा राष्ट्रीय प्रवक्ता के खिलाफ कार्रवाई करने में असफल रहने से भी निराश हैं, जो राजग से नजदीकी बढ़ा रहे हैं.

मांझी ने साधी चुप्पी

रिजवान ने पार्टी से इस्तीफा देने से तीन दिन पहले राहुल गांधी की पटना रैली को असफल बताया था, जिसमें मांझी भी शामिल हुए थे. रिजवान ने इसके साथ ही हम नेता मांझी से कांग्रेस के साथ गठबंधन पर पुनर्विचार करने का आग्रह भी किया था.

मांझी ने अपनी पार्टी में हुए इस घटनाक्रम पर अभी तक कोई टिप्पणी नहीं की है. उन्होंने रिजवान और हम के एक अन्य प्रवक्ता विजय यादव की टिप्पणियों से असहमति जतायी है और कहा है कि मैं पता लगाऊंगा और यदि मेरी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने वास्तव में ऐसा बयान दिया है तो हो सकता है कि उन्हें अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़े. पटेल ने गांधी की रैली पर रिजवान की टिप्पणी की आलोचना की थी. और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी.

रिजवान और पटेल आमने-सामने

रिजवान ने मांझी को लिखे अपने इस्तीफे में कांग्रेस की रैली के मामले का कोई उल्लेख नहीं किया. लेकिन यह कहा कि मैं हम को अपना घर मानता हूं और प्रदेश अध्यक्ष द्वारा उसे दीमक की तरह खाने पर मूक दर्शक नहीं बना रह सकता.

पटेल ने यद्यपि रिजवान के आरोपों को खारिज कर दिया और दावा किया कि रिजवान ने इस आशंका के चलते इस्तीफा दिया कि उन पर गाज गिर सकती है, क्योंकि मांझी ने इस बात को गंभीरता से लिया है. उन्होंने बयान जारी कर यह संकेत भी दिया कि वह तीन मार्च को आयोजित होने वाली राजग की उस रैली में गठबंधन में शामिल हो सकते हैं जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा संबोधित किये जाने की उम्मीद है.

रिजवान ने इसके जवाब में पटेल का मखौल उड़ाया और कहा कि उन्हें मेरे राजग में शामिल होने के निर्णय के बारे में सपने में पता चला होगा.

इसे भी पढ़ेंः महागठबंधन की दिल्ली में हुई बैठक का नतीजा- संख्या तय, सीट नहीं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: