World

पाकिस्तान में जबरन धर्मांतरण के बाद हिंदू महिला की करा दी शादी, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

रीना मेघवार को कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद माता-पिता को सौंपा गया

New Delhi: पड़ोसी देश पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के लिए अभिशाप बनता जा रहा है, खासकर हिंदू परिवार और उनकी लड़कियों के लिए स्थिति बदतर होती जा रही है. यहां आए दिन हिंदू लड़कियों को जबरन अपहरण करके उनका धर्म परिवर्तन कर निकाह करवा दिया जाता है. ऐसा ही मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत से आया है जहां हिंदू महिला का जबरन धर्मांतरण कराया गया. इस महिला का नाम रीना मेघवार बताया गया है. उसे जबर्दस्ती इस्लाम कुबूल कराया गया और फिर मरियम नाम देकर उसका निकाह दोगुनी उम्र के कासिम के साथ करा दिया गया. बढ़ते दबाव के बाद पुलिस ने युवती को आजाद कराया साथ ही सभी दोषियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

 

 

advt

इसे भी पढ़ें : मानसून सत्र में तेजस्वी आज लाएंगे दो प्रस्ताव, सीएम नीतीश से मंगवाएंगे माफी

 

पाकिस्तान में फर्जी दस्तावेज के जरिये जबरन शादी की शिकार हुई हिंदू महिला आखिरकार वापस अपने परिवार में लौट आई है. स्थानीय अदालत के आदेश पर रीना मेघवार को उसके परिवार को सौंप दिया गया है. कासिम काशखेली नामक शख्स ने बीती 13 फरवरी को रीना का अपहरण कर लिया था. यह खबर आम होते ही सोशल मीडिया पर रीना को न्याय दिलाने के लिए अभियान शुरू हो गया, जिसकी वजह से सरकारी एजेंसियां दबाव में थीं.

आरोपी ने रीना मेघवार को कागजों पर फर्जी तरीके से मुस्लिम दिखाकर शादी की थी. रीना को सिंध प्रांत के बादिन जिले केरियोजर इलाके से अगवा किया गया था. एक महिला पत्रकार ने महिला का वीडियो टि्वटर पर अपलोड किया था. वीडियो वायरल होने के बाद पाकिस्तान पुलिस ने सोमवार को महिला को छुड़ाया. बाद में महिला पत्रकार ने दोषियों के पकड़े जाने की बात भी ट्वीट की है. रीना ने वीडियो में कहा था कि माता-पिता और भाइयों की हत्या की धमकी देकर उसे अगवा किया गया है. उसे किसी तरह माता-पिता के पास पहुंचाया जाए.

 

रीना ने वीडियो में खुद को अगवा करने वाले का नाम नहीं बताया था. बाद में रीना को न्याय दिलाने की मांग वाले अन्य वीडियो भी सामने आए. सिंध की प्रांतीय सरकार ने इन वीडियो का संज्ञान लेते हुए मामले की जांच का पुलिस को आदेश दिया. इसके बाद बादिन के एसएसपी शबीर अहमद सेथर ने पुलिसकर्मियों की टीम गठित कर शुरुआती जांच के बाद रीना को काशखेली के घर से आजाद कराया.

 

सोमवार को पुलिस ने रीना मेघवार को स्थानीय अदालत में पेश किया. वहां रीना ने कहा कि उसने इस्लाम धर्म कबूल नहीं किया है. जबरन शादी करने के लिए उसके धर्म परिवर्तन करने के फर्जी दस्तावेज तैयार किए गए हैं. युवती का बयान सुनने के बाद कोर्ट ने काशखेली के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश पुलिस को को देते हुए रीना को उसके माता-पिता को सौंपने का आदेश दिया.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: