DhanbadJharkhandMain Slider

जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप, खंडहरनुमा मकान में छिपाई गई थी चार महिलाएं

Dhanbad:जंगल में बने एक खंडहरनुमा मकान में चार महिलाओं और चार बच्चों को कई दिनों से रखा गया था. पुलिस ने उस मकान से ईसाई धर्म की किताबें, झंडा और अन्य सामान बरामद किया है.क्या धनबाद के उस खंडहर में जबरन धर्म परिवर्तन कराया जा रहा था? स्थानीय लोग और हिंदू सेना के कार्यकर्ता जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप लगा रहे हैं. लेकिन पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है.

क्या है पूरा मामला ?

धनबाद जिले के पुटकी थानाक्षेत्र के न्यू डीह के जंगल में बने एक खंडहरनुमा मकान में चार महिलाओं और चार बच्चों को कई दिनों से रखा गया था. पुलिस ने उस मकान से ईसाई धर्म की किताबें, झंडा और कई अन्य सामान बरामद किया है. इसके अलावा उस मकान से धर्मांतरण कराने के लिए तैनात दो लोगों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है. हिंदू सेना का आरोप है कि ईसाई मिशनरी चोरी-छिपे धर्मांतरण के काम को अंजाम देना चाह रहे थे.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें-ईसाई धर्मगुरूओं के खिलाफ साजिश रच रही है सरकार- राष्ट्रीय ईसाई महासंघ

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

कैसे पुलिस की गिरफ्त में आये आरोपी ?

हिंदू सेना के कार्यकर्ताओं को खबर लगी थी कि एक खंडहर में चार गरीब महिलाओं और उनके चार बच्चों को कैद कर रखा गया है. इसके बाद हिंदू सेना ने पुलिस को इसकी खबर की. पुलिस ने खंडहर में छापा माकर चार महिलाओं और चार बच्चों को मुक्त कराया. इसके साथ ही पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है.

इसे भी पढ़ें-20 हजार आदिवासियों ने मानव श्रृंखला बना सरकार की नीतियों का किया विरोध

महिलाओं ने क्या कहा ?

महिलाओं ने बताया कि उनको ईसाई विधि से उपासना कराया जाता था और उन्हे पढ़ने के लिए ईसाई धर्म की किताबें दी जाती थीं. महिलाओं ने कहा कि उन्हे ईसाई धर्म की अच्छाई बताई जाती थी. लेकिन उन्होने किसी तरह की जोर-जबरदस्ती से इंकार किया है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और मामले की छानबीन में जुट गई है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button