Corona_UpdatesMain Slider

#Fightagainstcorona : हिंदपीढ़ी एक घनी आबादी वाला इलाका, बड़े पैमाने पर होगी जांच, तैयार रहें लोग : हेमंत सोरेन

Ranchi :  पीएम मोदी से वीडियो कॉंन्फ्रेसिंग के बाद मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री ने राजधानी स्थित हिंदपीढ़ी के लोगों से प्रशासन को सहयोग करने की अपील की. सीएम हेमंत ने कहा कि ये इलाका एक घनी आबादी वाला क्षेत्र है. इस इलाके में एक महिला के पॉजिटिव होने के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण से बाकि लोगों को बताने के लिए ही इलाके के लोगों की जांच की जा रही है.

दरअसल यह जांच उनकी ही सुरक्षा के लिए है. ऐसे में उनसे अपील है कि वे प्रशासन को जांच में सहयोग करें. हेमंत ने सख्त लहजों में कहा कि अभी बड़े पैमाने पर इस तरह की जांच की जायेगी. इसके लिए उन्हें तैयार रहना होगा.

वहीं प्रशासन को सीएम हेमंत सोरेन ने सलाह दी कि अगर संभव हो तो वे घर-घर नहीं जाकर कुछ स्थान चिंहित कर शिविर लगायें. इस शिविर में इलाके के लोग निश्चित अवधि में आकर-आकर प्रशासन के जांच में सहयोग करें.

ram janam hospital
Catalyst IAS

हिंदपीढ़ी में लोग कैसे कर रहे हैं कोरोना जांच टीम का विरोध- देखें वीडियो

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali


इसे भी पढ़ें – #FightAgainstCorona : युद्धपोत, प्लेन से लेकर सेना की पूरी मशीनरी अलर्ट पर, 8,500 डॉक्टर भी तैयार

पीएम ने की हेमंत सोरेन की सराहना

वहीं  कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रयासों का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सराहना की है. उन्होंने कहा कि जिस तरह लॉकडाउन के दौरान बाहर फंसे अपने लोगों के लिए मदद का तरीका अपनाया, उसमें सभी राज्यों से उन्हें सहयोग भी मिला. इसकी जितनी सराहना की जाए, वह कम है.

पीएम मोदी ने ये बातें सभी राज्यों के मुख्यमंत्री से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के दौरान कहीं. यह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कोरोना वायरस की लड़ाई को लेकर की गयी थी. इसमें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सूबे के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, सीएम के प्रधान सचिव राजीव अरूण एक्का, प्रेस सलाह अभिषेक प्रसाद पिंटु उपस्थित थे.

बता दें कि कोरोना से लड़ाई को लेकर लॉकडाउन के बाद देश के कई राज्यों में झारखंड के कई लोग फंस गये हैं. मुख्यमंत्री ट्विटर के माध्यम से लगातार संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने से ऐसे लोगों की मदद के लिए संपर्क बनाकर रखा है.

इसे भी पढ़ें – हिंदपीढ़ी में #Corona स्‍क्रीनिंग के लिए गयी मेडिकल टीम का विरोध, बिना जांच के लौटी

राज्य के साथ खड़ा है केंद्र, मिलेगी संभव मदद : पीएम

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पीएम मोदी ने सभी राज्यों की स्थिति की जानकारी मुख्यमंत्रियों से ली. सभी ने पीएम को वस्तुस्थिति से अवगत कराया. इस दौरान मोदी ने इन सभी को कोरोना से लड़ाई के लिए कई आवश्यक सलाह भी दी.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना से लड़ाई में सभी राज्यों से मिल रहे हेमंत सोरेन के सहयोग की सराहना की. उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि उनके साथ केंद्र खड़ा है और इस संकट की घड़ी में राज्य को हर संभव मदद की जायेगी.

पलायन को रोकने के लिए हर संभव कदम उठाने की अपील

मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत के दौरान पीएम के चेहरे पर लॉकडाउन को लेकर भी चिंता भी दिखी. कोरोना जैसी महामारी पर नियंत्रण के लिए पीएम ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने की अपील की. साथ ही कहा कि लोगों को जरूरी सामान भी मुहैया कराये जायें. ताकि किसी को दिक्कत न आये.

मजदूरों के पलायन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की कि हमें हर संभव पलायन को रोकना होगा. इसके लिए हर राज्य अपनी ओर से सारे इंतजाम करें. मजदूरों के लिए शेल्टर होम के साथ उनके खाने-पीने की व्यवस्था की जाए. साथ ही मजदूरों से अपील की जाये कि वह सड़कों पर न निकलें.

 

स्वास्थ्य और आर्थिक मुद्दों पर पीएम से हुई बातचीत

पीएम नरेंद्र मोदी से हुई बातों का जिक्र करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि इस दौरान स्वास्थ्य, आर्थिक और आर्थिक संकट की स्थिति में प्रमुखता से बातचीत की गयी. बातों को सुनकर पीएम ने आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार इस पर गंभीर है. वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य से जुड़ी सामग्रियों की कमी है. इसकी आपूर्ति पर केंद्र नजर बनाकर रखी है.

हेमंत ने कहा कि यह सही है कि राज्य में मेडिकल इक्विमेंट और इसे चलाने के लिए तय मापदंड की काफी कमी है. इसमें लैब टेस्टिंग, पीसीआर जैसे मापदंड शामिल हैं. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी इसके लिए प्रयासरत हैं कि इन सीमित संसंधानों के द्वारा ही राज्य के लोगों को बेहतर सुविधा दी जा सके.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार कोरोना के स्तर की गतिविधि पर लगातार आला अधिकारियों से संपर्क में है. इसमें लॉकडाउन का पालन करने के लिए प्रशासन को निर्देश दिया गया है. वहीं उन्होंने जनता से अपील कर कहा कि अगर कोरोना से जीतना है, तो लोग जहां है वहीं रूखे. उनका कदम राज्य, परिवार, समुदाय के सुरक्षा के लिए जरूरी है.

इसे भी पढ़ें – #IslamicCoronaJehad : मरकज के लोगों ने तो गलत किया ही, कोरोना फैलाया, पर अमित शाह की दिल्ली पुलिस है सबसे बड़ी जिम्मेदार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button