न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हिंदी अपना वास्तविक स्थान खुद ही हासिल कर रही हैः विश्वंभर

बोकारो थर्मल में विश्व हिंदी दिवस समारोह सह राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

1,718

Bermo: बोकारो थर्मल स्थित स्टेशन क्लब में डीवीसी राजभाषा कार्यान्वयन के तत्वाधान में गुरुवार को विश्व हिंदी दिवस समारोह सह राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया. प्रोजेक्ट हेड कमलेश कुमार, मुख्य अभियंता निखिल कुमार चैधरी, कोलकाता के वरीय पत्रकार विश्वंभर नेवर, रांची के साहित्यकार डॉ रविभूषण, डीवीसी कोलकाता राजभाषा के पूर्व वरिष्ठ प्रबंधक नवीन कुमार प्रजापति तथा डीजीएम पीके सिंह ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया. अतिथियों द्वारा कविता एवं कहानी संग्रह परछाइय़ां तथा दूरभाष निर्देशिका का विमोचन किया गया. स्वागत भाषण डिप्टी चीफ अभय कुमार श्रीवास्तव ने दिया. समारोह में स्वागत गान नृत्य शिक्षक तरुण दास के द्वारा किया गया. डॉ रविभूषण ने कहा कि विश्व हिन्दी दिवस प्रति वर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है. इसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को अंतरराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है. विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं. विश्व में हिन्दी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलनों की शुरुआत की गयी.

10 जनवरी को हुआ था प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन

प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था. 10 जनवरी को इसलिए विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है. कोलकाता से आये वरीय पत्रकार विश्वंभर नेवर ने राजभाषा के प्रचार एवं प्रसार में मीडिया की भूमिका पर संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी 2006 को प्रति वर्ष विश्व हिन्दी दिवस के रूप मनाये जाने की घोषणा की थी. भारतीय विदेश मंत्रालय ने विदेश में 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया था. 10 जनवरी विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. उन्होंने कहा कि हिंदी को आगे बढ़ने के लिए किसी प्रचार की जरुरत नहीं है, बल्कि हिंदी अपना वास्तविक स्थान खुद ही हासिल कर रही है. उन्होंने कहा कि हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में पदस्थापित करने की मांग हिंदी भाषी राजनेताओं एवं महापुरुषों ने नहीं, बल्कि गैर हिंदी भाषी राजनेताओं एवं महापुरुषों ने की थी. समारोह को डीवीसी कोलकाता राजभाषा के पूर्व वरिष्ठ प्रबंधक नवीन कुमार प्रजापति तथा प्रोजेक्ट हेड कमलेश कुमार ने भी संबोधित किया. समारोह में कार्मेल, संत पॉल के बच्चों के द्वारा नृत्य पेश किये गये, जिसे काफी सराहा गया. धन्यवाद ज्ञापन डिप्टी चीफ वीएन शर्मा ने किया. समारोह का संचालन हिंदी अधिकारी इस्माइल मियां ने किया.

मौके पर ये लोग थे मौजूद

समारोह में शिखा झा, डिप्टी चीफ बीके मंडल, संयुक्त निदेशक दिलीप कुमार, आरके चैधरी, उप निदेशक रविंद्र कुमार, डिग्री कॉलेज के प्राचार्य जीपी सिंह, एनके चैधरी, आइएसएल के प्राचार्य एमपी सिंह, एमपी कर्ण, डॉ दशरथ महतो, अवधेश सिंह, विमलेश मिश्रा, डी कुमार, दीनानाथ शर्मा सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः इस महीने निष्प्रभावी हो जायेगा तीन तलाक अध्यादेश, फिर हो सकता है लागू

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: