JharkhandRanchiTOP SLIDER

झारखंड मुक्ति मोर्चा JMM को एक करोड़ रुपये का चंदा दिया था Hindalco ने

19 राजनीतिक दलों की आय 312.37 करोड़ रुपये का 50 प्रतिशत से अधिक चंदा चुनावी बांड से मिला

Ranchi : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ऐसी पहली पार्टी बन गई है जिसने चुनावी बांड के माध्यम से चंदा देने वालों के नामों की घोषणा की है.

एसोसिएशन आफ डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है. इसमें कहा गया है कि वर्ष 2019-20 में पार्टी को योगदान संबंधी रिपोर्ट में एक करोड़ रूपये के चंदे की घोषणा की गई है .

झारखंड में सत्तारूढ़ पार्टी को मिले योगदान संबंधी रिपोर्ट के अनुसार, उसे एल्यूमिनियम एवं तांबा विनिर्माता कंपनी हिंडाल्को ने यह चंदा दिया .

नयी रिपोर्ट में एडीआर ने कहा कि वर्ष 2019-20 में राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को आय का सामान्य एवं लोकप्रिय स्रोत चुनावी बांड के जरिये चंदा रहा . पिछले दो वर्षो में यह दलों को चंदे के लोकप्रिय माध्यम के रूप में उभरा है .

इसे भी पढ़ें :500 ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदेगा नगर निगम, 2 एंबुलेंस और 2 शव वाहन खरीदने की भी योजना

ऑडिट रिपोर्ट में चुनावी बांड के जरिये इस आय की घोषणा नहीं की

एडीआर की रिपोर्ट में कहा गया है, ” यह ध्यान देने की बात है कि झामुमो पार्टी ने वर्ष 2019-20 में पार्टी को योगदान संबंधी रिपोर्ट में चंदा देने वाले के नामों की घोषणा की जिन्होंने उसे चुनावी बांड के जरिये एक करोड़ रूपये दिया. हालांकि पार्टी ने वित्त वर्ष 2019-20 की ऑडिट रिपोर्ट में चुनावी बांड के जरिये इस आय की घोषणा नहीं की . ”

एडीआर ने कहा है कि इससे यह सवाल उठता है कि क्या राजनीतिक दलों को दान देने वालों की पहचान की जानकारी है जिन्होंने उसे चुनावी बांड के जरिये योगदान दिया है, जैसा कि इस मामले में देखा जा सकता है .

इसे भी पढ़ें :BENGAL ELECTION : सीएम ममता बनर्जी बोलीं, तीन चरणों के चुनाव एक ही दिन या दो दिन में कराया जायें

राजनीतिक वित्त पोषण में पारदर्शिता लाने का प्रयास

गौरतलब है कि चुनाव बांड को राजनीतिक दलों को नकद में चंदा देने के विकल्प के तौर पर पेश किया जा रहा है और इसे राजनीतिक वित्त पोषण में पारदर्शिता लाने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है .

रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2019-20 में 19 राजनीतिक दलों को कुल आय 312.37 करोड़ रुपये का 50 प्रतिशत से अधिक चंदा चुनावी बांड के जरिये प्राप्त हुआ और इसके दानदाताओं की पहचान सार्वजनिक नहीं की गई .

इसमें कहा गया है कि वर्ष 2109-20 में 3,429.56 करोड़ रूपये का चुनावी बांड दलों द्वारा भुनाये गए . इससे स्पष्ट होता है कि दलों द्वारा चुनावी बांड से भुनाये गए शेष 3,117.19 करोड़ रूपये या 91 प्रतिशत राशि का आडिट रिपोर्ट अभी निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध होनी बाकी है.

इसे भी पढ़ें :बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका ने पूर्व कुलपति डॉ. रमेश कुमार पांडेय को सम्मानित किया

दो राष्ट्रीय दलों और 17 क्षेत्रीय दलों की घोषित आय 619.28 करोड़ रूपये

एडीआर ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस ने सबसे अधिक 143.676 करोड़ रूपये की आय की जानकारी दी जो सभी दलों की विश्लेषित कुल आय का 23.20 प्रतिशत है . तेलगु देशम पार्टी की आय 91.53 करोड़ रूपये या 14.78 प्रतिशत और बीजद की आय 90.35 करोड़ रूपये या 14.59 प्रतिशत रही .

रिपोर्ट में कहा गया है कि 19 राजनीतिक दलों की विश्लेषण किया गया जिसमें से वर्ष 2018-19 से 2019-20 तक नौ दलों की आय में वृद्धि और 10 दलों की आय में गिरावट देखी गई.

इसे भी पढ़ें :चैंबर और आईएमए ने सरकार से की लॉकडाउन करने की मांग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: