DumkaJharkhandRanchi

गहरे खदान में गिरा हाईवा, खलासी की मौत

Ranchi/Dumka : झारखंड के दुमका जिले के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में एक पत्थर खदान में पत्थर लदा हाइवा अनियंत्रित होकर गिर गया, जिसमें खलासी की मौत हो गयी. मृतक की पहचान शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के हासापाथर गांव के रहनेवाले अलताब अंसारी (22) के रूप में की गयी है. सूचना मिलने के बाद पुलिस मृतक का शव और हाईवा को निकालने के प्रयास में जुटी है. थाना प्रभारी नवल किशोर सिंह ने घटना की पुष्टि की है. जानकारी के अनुसार शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र के मझलाडीह गांव में गुरुवार की सुबह पत्थर खदान से बोल्डर लाद कर जा रहा हाईवा अनियंत्रित होकर करीब 150 फीट गहरे पत्थर खदान में गिर गया. स्थानीय लोगों के मुताबिक पत्थर खदान के समीप संकीर्ण रास्ते पर हाईवा का संतुलन बिगड़ गया.

इस कारण हाईवा अनियंत्रित होकर गहरे पत्थर खदान में गिर गया. खदान में लगभग 20 फीट पानी भी जमा हुआ है, जिससे खलासी की मौत हो गयी.

इसे भी पढ़ें:PM मोदी ने पंजाब के CM चन्नी पर साधा निशाना , पूछा- संत रविदास, गुरु गोविंद सिंह कहां पैदा हुए, क्या उन्हें भी पंजाब से निकालोगे

ram janam hospital
Catalyst IAS

हालांकि हाईवा का चालक फरार बताया जा रहा है. मौके पर पहुंची पुलिस स्थानीय लोगों की मदद से हाईवा को निकालने में जुटी है. साथ ही शव को भी निकाला जा रहा है. हाइवा निकालने के लिए दो क्रेन एवं एक पोकलेन को लगाया गया है. समाचार लिखे जाने तक हाईवा एवं लाश को खदान से बाहर नहीं निकाला गया था.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

थाना प्रभारी ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच कर मामले की पड़ताल में जुट गयी है. इस घटना को लेकर अभी तक किसी के द्वारा लिखित रूप में कोई शिकायत पुलिस के पास दर्ज नहीं करायी गयी है.

इसे भी पढ़ें:तसलीमा ने हिजाब को बताया उत्पीड़न का प्रतीक, कहा- ‘ये तब सही था जब महिलाएं Sex Objects थीं ‘

उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों द्वारा लिखित शिकायत दिये जाने पर उसके अनुरूप कार्रवाई की जायेगी. अन्यथा पुलिस मामले पर संज्ञान लेकर खुद प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई करेगी.

गौरतलब है कि दुमका जिला के शिकारीपाड़ा थाना क्षेत्र में सैकड़ों की संख्या में पत्थर खदान संचालित हैं जिनमें कई खदान अवैध तरीके से संचालित किया जा रहा है. प्रशासनिक स्तर पर अवैध खदान के संचालन पर अंकुश लगाने का प्रयास किये जाने के बावजूद प्रशासनिक कवायद महज खानापूर्ति साबित हो रहा है.

इस पत्थर खदान में हाईवा गिरने का यह कोई पहला मामला नहीं है बल्कि एक सप्ताह पूर्व भी इस तरह की घटना घटी थी. इस क्षेत्र में इस तरह की घटनाएं लगातार घटती रही हैं.

इसे भी पढ़ें:लालू प्रसाद की किडनी 18 फीसदी से कम काम कर रही, शुगर लेवल में भी उतार-चढ़ाव, डायट चार्ट किया जा रहा तैयार

Related Articles

Back to top button