JharkhandLead NewsRanchi

निशिकांत दुबे पर आपराधिक मुकदमा दर्ज करे हाइकोर्टः कांग्रेस-झामुमो

Ranchi : झामुमो और कांग्रेस ने सांसद निशिकांत दुबे पर नाराजगी जतायी है. सांसद ने सोशल मीडिया पर शनिवार को कहा था कि राज्य के पुलिस अधिकारी सीएम हेमंत सोरेन के इशारे पर नाच रहे हैं. पुलिस को कानून के अनुसार चलना चाहिए. ऐसा नहीं करने पर उनकी पोस्टिंग दिल्ली हो सकती है. माना जा रहा है कि राज्यसभा चुनाव 2016 प्रकरण को लेकर उन्होंने यह बात झारखंड पुलिस के संदर्भ में कही.

झामुमो के केंद्रीय प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने इस बयान पर कहा कि सांसद का ट्वीट संवैधानिक व्यवस्था पर आघात है. एक करप्शन केस में उनका ऐसा बयान देना ठीक नहीं. यह राजनीतिक वाचालता की पराकाष्ठा है. हाइकोर्ट इस बयान पर उनके खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज करे. कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे ने भी कहा कि सांसद कानून सम्मत कार्रवाई में सहयोग करें. धमकी देना बंद करें.

इसे भी पढ़ें :राज्यपाल के ओएसडी राकेश कुमार बोले, इंटर के बाद खुलते हैं करियर के कई रास्ते

पूर्व सीएम भी दे चुके हैं धमकी

सुप्रियो भट्टाचार्य के मुताबिक राज्यसभा चुनाव प्रकरण में पुलिस जांच कर रही है. अभियुक्त बनाये जाने पर पूर्व सीएम रघुवर ने भी अधिकारियों को धमकी दी है. कहा है कि 2024 के बाद अफसरों पर कार्रवाई की जायेगी. कार्यपालिका, सिस्टम को इस तरह धमकी दिया जाना गंभीर मसला है. पीएम, गृह मंत्री को इस पर संज्ञान लेना चाहिए. फेडरल सिस्टम को खत्म करने की बात हो रही है.

केंद्र राज्य का बकाया पैसा नहीं दे रहा. पारा टीचर का पैसा काट लेते हैं. जीएसटी का पैसा डेढ़ साल से नहीं दिया जा रहा. स्वस्थ लोकतंत्र के लिए यह उचित नहीं है. राज्य में उल्टा पुल्टा करने, भ्रम फैलाने पर भाजपा नेताओं के खिलाफ पैनडेमिक एक्ट के तहत कार्रवाई की जायेगी.

अधिकारियों का गिरेगा मनोबल

आलोक कुमार दुबे ने कहा कि पुलिस-प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ईमानदारी पूर्वक अपने कर्तव्यों के निर्वहन में लगे हैं. ऐसे में निशिकांत दुबे का बयान अधिकारियों का मनोबल गिराने वाला है. आइएएस और आइपीएस अधिकारियों को धमकी देनेवाले भाजपा नेताओं को सावधानी बरतनी चाहिए. यदि इन ईमानदार अधिकारियों ने ताल ठोंक लिया तो पिछले पांच सालों में रघुवर दास सरकार में भ्रष्टाचार करने वाले सभी भाजपा नेता सलाखों के पीछे नजर आयेंगे.

इसे भी पढ़ें :एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की पहली बरसी पर डायरेक्टर अनुभव सिन्हा क्या लिखा जो हुए ट्रोल

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: