NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोमेंटम झारखंड मामले में हाईकोर्ट का आदेश, याचिकाकर्ता ACB में दर्ज करायें FIR

मामले पर आज चल रही सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि प्रार्थी एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) में जाकर एफआईआर दर्ज करें.

2,069

Ranchi: मोमेंटम झारखंड को लेकर तमाम तरह की बातें होने के बाद अब एफआईआर होगा. हाईकोर्ट में दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस अनिरुद्ध बोस और जस्टिस डीएन पटेल की बेंच ने एसीबी को मामले पर एफआईआर करने को कहा. कोर्ट में मोमेंटम झारखंड को लेकर जनहित याचिका दीवान इंद्रनील सिन्हा ने लगायी थी. याचिका की पैरवी सीनियर एडवोकेट राजीव कुमार कर रहे हैं. मामले पर आज चल रही सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि प्रार्थी एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) में जाकर एफआईआर दर्ज करें. दीवान इंद्रनील सिन्हा ने झारखंड सरकार और अन्य को इस मामले में आरोपी बनाया है.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच-03: 6400 करोड़ का एमओयू ऐसी कंपनी के साथ जिसका कहीं नामोनिशान नहीं

किस तरह के आरोप हैं झारखंड सरकार पर

मोमेंटम झारखंड को लेकर न्यूज विंग ने सबसे पहले खबर छापनी शुरू की थी. मोमेंटम झारखंड का आयोजन कराने में सरकार पर कई तरह की अनियमितता का आरोप लगा है. आरोप है कि सरकार ने नए और कम पूंजी वाली कंपनियों के साथ अरबो रुपए का करार किया है. साथ ही आयोजन में सरकारी पैसा पानी की तरह बहाया गया. कई तरह के फंड का बंदरबांट हुआ है. जिस दावे के साथ मोमेंटम झारखंड का आयोजन हुआ था, वो मकसद पूरा करने में सरकार पीछे रह गयी. सरकार ने जितने निवेश का दावा किया था. उतने निवेश राज्य में नहीं हुए. सरकार पर फर्जी कंपनियों के साथ करार करने का आरोप भी लगा है.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सचः एक माह पुरानी, एक लाख की कंपनी से सरकार ने किया 1500 करोड़ का करार

उल्लेखनीय है कि झारखंड में हुए मोमेंटम झारखंड के पीछे का सच काफी चौंकाने वाला है. सरकार ने एक ऐसी कंपनी से करार किया है, जो सिर्फ 39  दिन की थी. कंपनी के पास कुल जमा पूंजी महज एक लाख रुपए है. इस कंपनी ने सरकार के साथ 1500 करोड़ का करार किया है. जी हां, कंपनी और सरकार के एमओयू की कॉपी को देखने के बाद सारा मामला साफ होता है.

Orient Craft Fashion Park One LLP है कंपनी का नाम

Orient Craft Fashion Park One LLP कंपनी की बनने की तारीख यानी Date of Incorporation तीन फरवरी 2017 है. कंपनी झारखंड सरकार के साथ झारखंड में इंडस्ट्रीयल पार्क बनाने के लिए 1500 करोड़ का करार 14 मार्च 2017 को करती है. यानी कंपनी की उम्र करार के दिन सिर्फ 39 दिन की थी. यह शायद पहली ऐसी कंपनी हो जो इतने कम उम्र में इतना बड़ा करार किसी सरकार से कर पायी हो.

इसे भी पढ़ें : मोमेंटम झारखंड का सच- 2: तीन कंपनियों की कुल पूंजी तीन लाख, एमओयू 2800 करोड़ का

कुल जमा पूंजी मात्र एक लाख रुपए

1500 करोड़ का करार करने वाली Orient Craft Fashion Park One LLP कंपनी के पास कुल जमा पूंजी एक लाख रुपए है. कंपनी ने अपने मास्टर डाटा (data) में इस बात का उल्लेख किया है. कंपनी की मास्टर डाटा में Capital  Contribution एक लाख होने की बात है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि जिस कंपनी के पास सिर्फ एक लाख रुपए हो वो 1500 करोड़ का एमओयू करने की सोच भी कैसे सकती है.

इसे भी पढ़ें- मोमेंटम झारखंड का सच-अंतिम : बिना टेंडर के सरकार ने तीन कंपनियों को दिया आयोजन का जिम्मा

madhuranjan_add

बाप और बेटा हैं कंपनी के डायरेक्टर

कंपनी के मास्टर डाटा में बताया गया है कि कंपनी के दो मालिक हैं. Number of designated parents- 2  हैं. ये आपस में बाप-बेटे हैं. सुधीर डिंगरा पिता हैं और साहिल डिंगरा बेटे हैं. कंपनी ने अपने मास्टर डाटा में बताया है कि जब से यह कंपनी बनी है, तब से यही दोनों कंपनी के डायरेक्टर हैं.

इसे भी पढ़ें : वन विभाग में अब तक 1100 करोड़ का पौधारोपण, करोड़ों का घपला, फाइल पर कुंडली मारकर बैठे अफसर

 

झारखंड में क्या करेगी कंपनी

कंपनी ने सरकार से रेडीमेड कपड़ा बनाने वाली कंपनियों को सही जगह और माहौल देने का करार किया है. कंपनी को दो प्राइवेट इंडस्ट्रीयल पार्क बनाने हैं. एक के लिए खेलगांव में 28 एकड़ जमीन और दूसरे पार्क के लिए इरबा में 113 एकड़ जमीन सरकार देगी.

Orient Craft Fashion Park One LLP कंपनी इस जमीन पर 1500 करोड़ की लागत से इंडस्ट्रीयल पार्क बनाकर वैसी कंपनियों को देगी जो रेडीमेड कपड़ा बनाने का काम करती हों. इस 1500 करोड़ रुपए में कंपनी 100 करोड़ पार्क को डेवलप करने में खर्च करेगी.

इसे भी पढ़ें – दुमका : सीनियर छात्र करते थे जूनियर छात्रों से नशे के नाम पर वसुली

एक लाख की कंपनी और 50,000 रोजगार का दावा

कंपनी ने अपने एमओयू में दावा किया है कि वो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 50,000 लोगों को रोजगार देगी. जबकि कंपनी की कुल पूंजी ही 1,00,000 (एक लाख) रुपए है. वहीं कंपनी ने यह भी दावा किया है कि वो अपने पहले पार्क का काम करार की तारीख से 6-9 महीने में शुरू कर देगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: