JharkhandLead NewsRanchi

27 जनवरी को नक्सली बंदी को लेकर झारखंड में हाई अलर्ट, पुलिस पर माओवादी हमले की आशंका

Ranchi: भाकपा माओवादी ने 27 जनवरी को बिहार-झारखंड में बंद का एलान किया है. इसको ध्यान में रखकर झारखंड पुलिस मुख्यालय ने सभी जिले के एसपी को अलर्ट किया है. खुफिया विभाग ने मुख्यालय को सूचना दी है कि बंद के दौरान नक्सली झारखंड में अपने प्रभाव वाले क्षेत्र में पुलिस की टीम पर हमला कर सकते हैं. नक्सली इस दौरान पुलिस पिकेट, कैंप, पोस्ट या पेट्रोलिंग पार्टी के अलावा स्कॉर्ट वाहन को निशाना बना सकते हैं. पुलिस मुख्यालय को सूचना मिली है कि रेलवे ट्रैक या सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा सकता है.

इसे भी पढ़ेंः यूपी चुनाव 2022: कांग्रेस ने जारी किया यूथ मेनिफेस्टो, 20 लाख नौकरी का वादा, 8 लाख महिलाओं के लिए रिजर्व

प्रशांत बोस और शीला मरांडी को राजनीतिक बंदी का दर्जा देने की मांग

जानकारी के अनुसार भाकपा माओवादियों ने प्रशांत बोस और शीला मरांडी को राजनीतिक बंदी का दर्जा दिये जाने की मांग की है. मांगों को लेकर नक्सली 21 से 26 जनवरी तक प्रतिरोध दिवस मनायेंगे. 27 जनवरी को बिहार-झारखंड बंद की घोषणा की है. बता दें कि प्रशांत बोस और शीला मरांडी को सरायकेला के कंड्रा चेक पोस्ट के समीप पकड़ा था.

इन दोनों को झारखंड में भाकपा माओवादी संगठन के विस्तार का प्रमुख कारण माना जाता है. और इन लोगों का प्रमुख केंद्र बिंदु कोल्हान क्षेत्र ही रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए इस इलाके को खास तौर पर अलर्ट जारी किया गया है. इसके अलावा पश्चिम सिंहभूम, सरायकेला में सावधानी बरती जा रही है. लेकिन नक्सलियों के निशाने पर तो सबसे ज्यादा कोल्हान क्षेत्र ही है ताकि दो बड़े नक्सलियों के गिरफ्तारी का बदला लिया जा सके. उनकी ये भी मांग है कि शीला मरांडी को बेहतर स्वास्थ्य लाभ दिया जाए.

इसे भी पढ़ेंः Jharkhand: शिक्षकों के हित और उम्मीदवारों की उम्मीद से जुड़ी नियमावलियों पर शिक्षा मंत्री की मुहर, विभागीय अनुमति के बाद जल्द लागू होंगी

Advt

Related Articles

Back to top button