Lead NewsOFFBEATWorld

चॉकलेट से भी कम दाम में यहां आप खरीद सकते हैं घर,  रिनोवेशन में भी सरकार करेगी मदद

New Delhi :   जमीन और बिल्डिंग मैटेरियल्स की बढ़ती कीमतों की वजह से ज्यादातर लोग अपना घर खरीदने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं और पाई-पाई जमा करने के बाद भी बहुत से लोग लोन की या घरवालों, दोस्तों की सहायता लेने के बाद ही अपना घर ले पाते हैं. आज-कल कहीं भी घर खरीदना सस्ता नहीं है. वहीं अगर हम आपसे कहें कि एक ऐसी जगह है जहां घर खरीदना एक चॉकलेट खरीदने से भी सस्ता है तो आप शायद यकीन नहीं करेंगे, पर यह सच है.

उत्तर क्रोएशिया में एक शहर है जहां आप सिर्फ 12 रुपये में घर खरीद सकते हैं. वहां कि सरकार ने यह नियम शहर की घटती आबादी को देखते हुए तय किए हैं. हालांकि इसके साथ कुछ शर्ते भी है जो आपको माननी पड़ेंगी.

advt

इसे भी पढ़ें :ओरमांझी से जैना मोड़ तक बनेगा एक्सप्रेस-वे, धनबाद व बोकारो को जोड़ेगा

शहर में बहुत कम है आबादी

उत्तर क्रोएशिया के एक शहर में बहुत कम आबादी होने के कारण वहां घर लेने के लिए लोगों लुभाने के लिए केवल 12 रुपये में घर बेचे जा रहे हैं. लेग्राड नाम का यह शहर कभी क्रोएशियाई क्षेत्र जनसंख्या के मामले में दूसरा नंबर पर आता था. लेकिन एक सदी पहले ऑस्ट्रो-हंगेरियन साम्राज्य के विघटन के बाद से शहर की जनसंख्या को लगातार गिरावट आ रही है. अब, शहर में सिर्फ 2,250 निवासी हैं. जो 70 साल पहले की संख्या के आधे हैं. लेग्राड, हंगरी के साथ सीमा के पास है, जो कि हरे भरे खेतों और जंगल से घिरा हुआ है.

इसे भी पढ़ें :लोक जनशक्ति पार्टी में टूट के बाद छलका पशुपति पारस का दर्द, चिराग पर क्या बोले जानिए ?   

35 हजार कुना तक देगी सरकार

यहां मौजूद ज्यादातर घर खंडहरों में बदल चुके हैं. किसी की खिड़की नहीं है तो किसी के दरवाजे नहीं है. घरों की दीवारें मोल्ड से ढकी हुई हैं. नगर पालिका का कहना है कि वह नए निवासियों को नवीनीकरण के लिए 25,000(देश की मुद्रा) कुना का भुगतान करेगी.  शहर के महापौर के अनुसार, घर बनाने में लगने वाली कीमत का 20 प्रतिशत या 35 हजार कुना तक कवर किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :राज्य के 35441 में से सिर्फ 5 हजार सरकारी स्कूलों में चल रही है ऑनलाइन क्लास

ये हैं नियम और शर्ते

इसके अलावा लेग्राड में बसने के इच्छुक लोगों की उम्र 40 साल से कम होनी चाहिए. उन्हें शहर में कम से कम 15 साल तक रहने के लिए भी प्रतिबद्ध होना होगा. इंडिपेंडेंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यहां की अब तक 17 संपत्तियों की बिक्री हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें :झारखंड कैबिनेट की बैठक 18 को, पंचायतों के कार्यकाल पर हो सकती है चर्चा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: