JharkhandNEWS

हाथियों का झुंड पहुंचा बारेन्दा पहाड़ी जंगल, लोगों में दहशत

Ranchi/Sonhatu: प्रखंड के बारेन्दा पहाड़ी जंगल में 24 की संख्या में हाथियों पहुंच चुका है. जिसको लेकर प्रखंड के लोग भयभीत हैं. बारेन्दा पहाड़ी के सामने से सिल्ली-टिकर-रंगामाटी सड़क गुजरती है. जो काफी व्यस्त रहता है. हाथियों के झुंड होने से आवाजाही करने वालों को खतरा हो सकता है. हाथियों का झुंड तेतला जंगल की ओर जाने की अंदेशा है. ग्रामीणों ने हाथियों के आने की सूचना वन विभाग को दे दिया है. वन विभाग हाथियों के झुंड पर नजर रखे हुए हैं.

इसे भी पढ़ें: RANCHI UNIVERSITY ने ग्रामीण क्षेत्रों के 15 हज़ार स्टूडेंट्स को दी राहत, भर सकते हैं ऑफलाइन फॉर्म

ग्रामीणों को डर सता रहा है की 24 जंगली हाथियों का झुंड बंगाल से झारखण्ड में प्रवेश किया है, कहीं वही झुंड तो नही है. 8 मई को हाथियों का यह झुंड बहरागोड़ा लोधनबनी के पास बंगाल से झारखंड की सीमा में प्रवेश किया था. यह झुंड झारखंड में अंतिम शरण अनगड़ा-सिल्ली के जंगलों में लेता है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें: Jharkhand News: रहें सावधान, बेवजह घर से नहीं निकलें, पड़ सकते हैं डंडे

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

सैकड़ों वर्षों से हाथियों का झुंड भोजन की तलाश में बंगाल से चलकर अनगड़ा-सिल्ली के जंगलों में आता रहा है. इस क्षेत्र में हाथियों को पर्याप्त मात्रा में महुआ, गरमा धान, कटहल व बांस करील खाने को मिल जाता है. लोग इन सामग्रियों को अपने-अपने घरों में संग्रह करते हैं. हाथियों का झुंड ऐसे घरों को ध्वस्त कर अपना भोजन करते हैं. कालक्रम में हाथियों के निर्धारित रूट में मानव बसावट हो गई. जिस कारण हाथी-मानव में झड़प होते रहती है. हाथियों का झुंड दो रूट से अनगड़ा-सिल्ली पहुंचते हैं. वहीं, वन विभाग की ओर से पूरी तैयारी की जा रही है की हाथियों के झुंड से जान माल का कम नुकसान हो.

इसे भी पढ़ें: “मैं लिहाज कर गया, वरना ऐसे मंत्री और अधिकारी को कूट कर रख दूंगा!” ये बोल रहा है हॉस्पिटल प्रबंधक, देखिए वीडियो

 

Related Articles

Back to top button