न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

हेमंत सोरेन ने उठाया ईवीएम पर सवाल, कहा – वोट देने के अधिकार की नहीं मिलती जानकारी

विधानसभा चुनाव में बड़े भाई की भूमिका बताकर महागठबंधन बने रहने का इशारा

130

Ranchi : विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने ईवीएम पर सवालिया निशान खड़ा किया है, साथ ही हेमंत सोरेन ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की अप्रत्यक्ष मांग की है. कर्नाटक निकाय चुनाव में कांग्रेस को मिली जीत की बात करते हुए हेमंत ने कहा कि लोकतंत्र का तकाजा यही इशारा करता है कि ईवीएम से अलग देश में बैलेट पेपर से चुनाव कराया जाए. इस दौरान उन्होंने इशारों ही इशारों में ईवीएम मशीन से हुई लोकसभा चुनाव की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़ा किया.

mi banner add

हेमंत सोरेन ने यह बातें चुनाव में मिली करारी हार के बाद रविवार को पार्टी अध्यक्ष शिबू सोरेन के आवास पर विधायक दलों की बुलायी समीक्षा बैठक में कहीं.

उन्होंने कहा कि अगर कोई यह समझता है कि गुरूजी या पार्टी उम्मीदवारों के हार से जेएमएम समाप्त हो गया है, तो यह उनकी बड़ी भूल है. चुनाव बाद पार्टी और चार कदम आगे बढ़ा है. इस दौरान उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी की नीतियों, महागठबंधन की रूपरेखा पर भी जवाब दिया.

इसे भी पढ़ें – Police Housing Colony : कौन है ये जीएस कंस्ट्रक्शन, जो जीएम और सीएनटी लैंड पर बसा रहा दिग्गजों का…

हार के बाद पार्टी की जिम्मेवारी बढ़ी

लोकसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार पर हेमंत सोरेन ने कहा कि समीक्षा बैठक में पार्टी उम्मीदवारों के हार की कमियों, सांगठनिक स्थिति पर विशेष चर्चा हुई. सोमवार को कार्यकारिणी की बैठक में भी इस पर विशेष चर्चा होगी.

रविवार की बैठक में यह कहा गया कि जेएमएम राज्य की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. वर्तमान में यह प्रमुख विपक्षी दल है. ऐसे में राज्य की बड़ी आबादी के कल्याण का दायित्व भी पार्टी पर ही है.

चुनाव में हार के बाद अब यह जिम्मेदारी और बढ़ गयी है. आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए जेएमएम अपनी नीतियों को और मजबूत करेगी. हेमंत सोरेन ने कहा कि विधानसभा चुनाव में पार्टी अपने सच्चे आदर्शों के साथ चुनाव लड़ेगी.

इसे लेकर पार्टी चुनाव पूर्व जनता के बीच जाएगी और रघुवर सरकार की दमनकारी नीतियों से अवगत कराएगी. इसके लिए पार्टी की सभी इकाइयों विशेषकर महिला, युवा वर्ग की भूमिका अधिक से अधिक सुनिश्चित करने की बात भी हेमंत सोरेन ने की.

वोट देने के अधिकार की स्वायत्तता का नहीं मिलता जवाब

ईवीएम पर सवाल खड़ा करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि यह मशीन केवल एक साधन मात्र है. वोट देना देश के हर नागरिक का एक संवैधानिक अधिकार है. लेकिन ईवीएम के उपयोग से हमें यह जानकारी नहीं मिल पाती है कि इस अधिकार का सही तरीके से उपयोग हो रहा है कि नहीं.

लोकतांत्रिक देश होने के नाते हमें अपने इस अधिकार की वास्तविकता को जानने की स्वायत्तता हमें होनी चाहिए. लेकिन ईवीएम मशीन से हमें यह स्वायत्तता नहीं मिलती है. वहीं वीवीपैट पेपर से वोटों के मिलान पर कहा कि इसपर कुछ कहना बहुत जल्दी होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि कई क्षेत्रों से ऐसी जानकारी मिली है कि जितने वोट वहां पड़े, उससे ज्यादा पेपर का मिलान हुआ.

इसे भी पढ़ें – तीन महीने में सिर्फ डेढ़ किलोमीटर तक ही हुई डक्टिंग, एक किलोमीटर तक बिछा पाइपलाइन

विधानसभा चुनाव में बड़े भाई की भूमिका में रहेगी जेएमएम

विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के स्वरूप पर हेमंत सोरेन ने कहा कि पार्टी चुनाव में बड़े भाई की भूमिका निभाएगी. यानि उन्होंने चुनाव में महागठबंधन के रहने की बात भी स्वीकार की. उन्होंने कहा कि बीजेपी हर चुनाव में धनबल का उपयोग कर रही है.

वह कई एजेंसियों, पेड स्टाफ के माध्यम से लोगों को दिग्भर्मित कर रही है. ऐसे में महागठबंधन का बना रहना जरूरी है. हालांकि महागठबंधन में पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी, इसका खुलासा उन्होंने नहीं किया. केवल यही कहा कि जल्द ही मीडिया को इसकी जानकारी दी जाएगी.

इसे भी पढ़ें –  सरकार की योजनाओं को आम जन तक पहुंचाने के मकसद से जल्द होगा रेडिओ खांची का शुभारंभ

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: