JharkhandRanchi

केंद्र से मिल रही है पूरी सहायता, अपनी असफलता को छिपाकर गलतबयानी कर रहे हेमंत सोरेन – भाजपा

Ranchi: भाजपा ने सीएम हेमन्त सोरेन पर कोरोना आपदा के समय राजनीति करने का आरोप लगाया है. प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने सीएम के उस बयान पर भी गहरी आपत्ति जतायी है जिसमें उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर 3.25 करोड़ झारखंड के लोगों को तरजीह नहीं देने की बात कही थी.

प्रतुल के अनुसार इस समय पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है और सीएम अभी भी राजनीति कर रहे हैं. केंद्र झारखंड समेत अन्य सभी राज्यों को कोरोना आपदा से निपटने के लिए पूरी सहायता प्रदान कर रही है.

झारखण्ड को एक दिन में ही मिल गया मेडिकल उपकरण, मास्क, किट, पीपीई ड्रेस, सैनिटाइजर

Catalyst IAS
ram janam hospital

प्रतुल शाहदेव के मुताबिक अभी हाल में ही 17287 करोड की राशि राज्यों को दी गयी है ताकि राज्य अपनी व्यवस्था को दुरुस्त कर सकें.

The Royal’s
Sanjeevani

इसके अलावा पिछले 24 घंटे में केंद्र ने अलग-अलग राज्यों में 60 टन मेडिकल उपकरण और राहत सामग्री हवाई रास्ते से पहुंचाई है. झारखंड में एक दिन में ही बड़ी संख्या में मेडिकल उपकरण,  मास्क,  किट,  पीपीई ड्रेस,  सैनिटाइजर और राहत सामग्री हेलीकॉप्टर से पहुंचायी गयी है.

इसके अतिरिक्त केंद्र ने इस आपदा के समय में देश में 21 विशेष विमान और 20 हेलीकाप्टर आकस्मिक व्यवस्था के तहत तैनात करके रखा है.

इसे भी पढ़ें : राजीव अरुण एक्का को सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव और जेबीवीएनएल के एमडी का भी प्रभार

कोरोना से निपटने को हेमंत सरकार ने 14 दिनों बाद बनायी उच्च स्तरीय समिति

प्रतुल के अनुसार वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग में पीएम के लिए हर राज्य के सीएम से बात करना संभव नहीं होता. पिछली बार के वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी एक दर्जन से ज्यादा मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री की बातचीत नहीं हो पायी.

यह बात ज्यादा महत्वपूर्ण है कि कांफ्रेंस में प्रधानमंत्री के द्वारा दिये गये निर्देशों को सुनकर सम्बंधित राज्य सरकार पालन करे. लेकिन हेमंत सोरेन अभी भी सरकार की असफलता को छिपाने के लिए राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं.

प्रतुल के मुताबिक कोरोना आपदा से लड़ने की गंभीरता का अंदाजा इस राज्य में ऐसे लगाया जा सकता है कि राज्य सरकार ने राष्ट्रीय आपदा घोषित होने के लगभग 2 हफ्ते बाद यहाँ इससे निपटने के लिए उच्च स्तरीय कमेटी बनायी.

तैयारियों और क्वारंटाइन सेंटर को लेकर बड़ी-बड़ी बात की गयी थी. इसकी पोल खुल चुकी है. अब भी राज्य सरकार को अपनी व्यवस्था को दुरुस्त कर के बेहतर इंतज़ाम करना चाहिए.

सीएम को बताना चाहिए कि राज्य सरकार ने अपने स्तर से महामारी से लड़ने के लिए जिस 200 करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा की थी, उस राशि का कहां-कहां उपयोग हुआ.

प्रतुल ने सीएम को सलाह देते हुए कहा कि यह राजनीति करने का  समय नहीं, बल्कि जनता के स्वास्थ्य की रक्षा करने का समय है.

इसे भी पढ़ें : #CoronaUpdates: कुल 2902 केस आये, 30 फीसदी केस तबलीगी जमात से जुड़े – स्वास्थ्य मंत्रालय

सीएम ने मोदी पर साढ़े तीन करोड़ झारखंडियों को तरजीह नहीं देने का लगाया था आरोप

सीएम हेमंत सोरेन ने सोशल मीडिया पर अपनी भावना व्यक्त करते हुए लिखा था कि पीएम मोदी के साथ हुई बैठक में लगातार दूसरी बार उन्हें बोलने का मौका नहीं मिला था.

सिर्फ मेरी बातों को दबाना नहीं, बल्कि साढ़े तीन करोड़ झारखंडियों की बात को तरजीह नहीं देना और नजरअंदाज करना है.

इसे भी पढ़ें : #FightAgainstCorona: प. सिंहभूम जिला प्रशासन ने तैयार किया खास सैंपल कलेक्शन सेंटर, नहीं पड़ेगी पीपीई किट की जरूरत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button