न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हेमंत सोरेन, बाबूलाल मरांडी और गुरुजी आदिवासियों के शोषकः मुख्यमंत्री

837

जल-जंगल-जमीन की बात करने वालों ने 500 करोड़ की जमीन खरीदी

बाबूलाल मरांडी की औकात नहीं की वे आदिवासी क्षेत्र से चुनाव लड़ें, सामान्य सीट से चुनाव लड़कर अन्य के हक पर कर रहे हस्तक्षेप

बाबूलाल की पार्टी हम दो हमारे दो की पार्टी है, कांग्रेस वंशवाद और झामुमो परिवारवाद की करती है राजनीति

Giridih: सीएम रघुवर दास ने बाबूलाल मरांडी, हेमंत सोरेन, गुरुजी आदिवासियों का शोषक बताया है. साथ ही आरोप लगाया कि जल-जंगल-जमीन और आदिवासी हित की बात करने वाले ही सीएनटी-एसपीटी एक्ट का उल्लंघन कर 500 करोड़ रुपये की जमीन के मालिक बन बैठे हैं.

इसे भी पढ़ेंःनिशाने को भेद सकेंगे ‘अर्जुन’ या समीकरण के बनते चक्रव्यूह में फंस जाएंगे पूर्व सीएम मुंडा

विरोधियों पर निशाना

कांग्रेस वंशवाद और झारखंड मुक्ति मोर्चा परिवारवाद की राजनीति करती है. इनके समक्ष पार्टी में दूसरा कोई नहीं. वहीं बाबूलाल पर निशाना साधते हुए कहा कि कोडरमा से चुनाव लड़ रहे एक व्यक्ति की औकात नहीं है कि वह आदिवासी क्षेत्र से चुनाव लड़े.

यहां की सामान्य सीट से चुनाव लड़कर वह अन्य के हक पर हस्तक्षेप कर रहा है. उस व्यक्ति की पार्टी हम दो-हमारे दो की पार्टी है. इन लोगों की जमानत जब्त करवानी है. मुख्यमंत्री गुरुवार को राजधनवार में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे.

झारखंड को लूटने के लिए महागठबंधन

मुख्यमंत्री ने कहा कि चोर और भ्रष्टाचारियों का यह महागठबंधन सिर्फ झारखंड को लूटने के लिए बना है. इन लोगों को राज्य के विकास से कोई सरोकार नहीं है. जिस राज्य को उसके गठन होने के बाद से भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता था.

उस झारखंड की वर्तमान सरकार पर किसी तरह के भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा. यह आपके द्वारा 2014 में बनाये गए स्थिर सरकार का परिणाम है.

2014 से पूर्व किसी सरकार में हिम्मत नहीं थी कि वह समानांतर सरकार चला रहे माओवादियों को रोक सके. वर्तमान सरकार ने यह कर दिखाया और अब उग्रवाद अंतिम सांस ले रहा है.

स्थानीय नीति परिभाषित की, योजनाओं का लाभ हर वर्ग को मिला
राज्य गठन के बाद स्थानीय नीति परिभाषित हो जानी चाहिए थी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. युवाओं को ध्यान में रखकर वर्त्तमान सरकार ने स्थानीय नीति को परिभाषित किया.

इसे भी पढ़ेंः सुब्रमण्यम स्वामी बोले, भाजपा की 230 से कम सीटें आयीं, तो मोदी नहीं बन पायेंगे पीएम  

अब जिले के युवाओं को अगले 10 वर्ष तक तृतीय और चतुर्थ वर्ग में नियुक्ति होगी. केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ देने में कोई विभेद नहीं किया जा रहा है.

हर वर्ग के लोगों को योजना से लाभान्वित करने का प्रयास हुआ. महिलाओं के सम्मान, युवतियों के स्वाभिमान और युवाओं के उत्थान हेतु कार्य किये गए हैं.

कांग्रेस जो नहीं कर सकी वह मोदी ने कर दिखाया

मसूद अजहर को यूएन ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित कर दिया. कांग्रेस जो काम नहीं कर सकी, उसे मोदी ने कर दिखाया. चीन को भी पीछे हटना पड़ा जो लगातार मसूद अजहर को बचा रहा था. पूरी दुनिया ने भारत की 130 करोड़ जनता की आवाज सुनी.

इसे भी पढ़ेंःजल संसाधन के 12 प्रोजेक्ट्स पर उद्घाटन के बाद भी काम नहीं, डीपीआर-डीपीआर खेल रहा विभाग

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: