न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड संघर्ष यात्रा में बोले हेमंत- 2019 आनेवाला है, सत्ता में बैठी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए तैयार रहें

32

Simdega : झारखंड संघर्ष यात्रा में जनता को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि 2019 आनेवाला है, आप सब सत्ता में बैठी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए तैयार रहें. वह मंगलवार को संघर्ष यात्रा के दौरान सिमडेगा के कोललेबिरा स्टेडियम हाई स्कूल मैदान में सभा को संबोधित कर रहे थे. सोरेन ने कहा कि भाजपा सरकार ने एक भी स्थानीय बेरोजगार को नौकरी नहीं दी है. अनाज गोदाम में सड़ रहे हैं, गरीब भूखे मर रहे हैं. किसान आत्महत्या कर रहे हैं. इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमारे नौजवानों को आनेवाले समय में नौकरी मिल सके, इसलिए यह संघर्ष यात्रा निकाली गयी है.

इसे भी पढ़ें- अंदर की ताकत पहचाने छात्राएं, विपरित परिस्थितियों में आत्मविश्वास जरूरी: द्रौपदी मुर्मू

चार साल में 10 हजार से ज्यादा किसानों ने की आत्महत्या

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि देश में विगत चार वर्षों में दस हजार से अधिक किसान आत्महत्या कर चुके हैं. व्यापारियों को झारखंड में बुलाकर यहां की कीमती जमीन देने का प्रयास हो रहा है. राज्य में कानून-व्यवस्था लचर है. आये दिन अपहरण, हत्या दुष्कर्म की घटनाएं हो रही हैं. वहीं, सिमडेगा, बानो, कोलेबिरा, तोरपा, खूंटी से हमारी बेटियों को तस्करी कर दिल्ली में बेचा जा रहा है, वह भी बीजेपी के दलाल एंजेटों द्वारा. बड़ा दुर्भाग्य का विषय बना हुआ है कि इस क्षेत्र में व हमारे झारखंड से सालाना लगभग एक लाख लड़कियों को बेचा जाता है. उन्होंने स्थानीय पूर्व विधायक एनोस एक्का पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी के दलाल हैं, जो यहां के आदिवासी व मूलवासियों को बरगलाकर चुनाव जीतने के बाद अपना वोट बीजेपी को बेचते हैं और हमारे बीच के ही काका, बाबा, भैया को दलाल बनाकर पैसे के दम पर आपका वोट खरीदने को कहते हैं.

इसे भी पढ़ें- पलामू : पेपर बांट बने अधिवक्ता, अब योगेंद्र यादव चतरा से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

आदिवासियों-मूलवासियों के सपनों का झारखंड बनायेंगे

तोरपा विधायक पोलुस सुरीन ने कहा कि मूलवासियों व आदिवासियों ने सपना देखा था कि हमारा झारखंड अलग होगा और हमें रोजगार व नौकरी, घर-घर में पानी, बिजली व हमारा जल, जमीन, जंगल सुरक्षित रहेगा, लेकिन आदिवासी-मूलवासियों का जो सपना था, वह चूर होते दिख रहा है. जो अलग झारखंड राज्य के विरोधी थे, उन्हीं के हाथों में आज सत्ता है. पूरा झारखंड उनके कब्जे में है. हम अपने आपको स्वतंत्र महसूस भी नहीं कर सकते. इसी कारणवश आज सपनों का झारखंड बनाने के लिए संघर्ष यात्रा निकाली गयी है. विशुनपुर विधायक चमरा लिंडा ने कहा कि मूलवासी व आदिवासियों को उनका अधिकार दिलाना है. सरकार स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया व डिजिटल इंडिया के नाम पर जनता को छल रही है. सड़कों पर नेता, पदाधिकारी झाड़ू लगा रहे हैं, इस क्षेत्र में सड़कों की लचर स्थिति है, जबकि अस्पतालों के सफाईकर्मी को पांच माह से वेतन नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि झारखंड में बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों को नौकरी मिल रही है और यहां के युवा पलायन करने को मजबूर हैं. उसी दौरन केंद्र में बीजेपी की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह सरकार कर्ज पर चल रही है और आप-हम व आम नागरिक इस कर्ज का हकदार बन रहे हैं. बीजेपी ने वर्ल्ड बैंक, एशिया बैंक व जापान बैंक से कर्ज लेकर इस देश व राज्य का विकास कर रही है और इस देश व राज्य का पैसा पूंजीपतियों को दे रही है. सरकार यहां भोली-भाली जनता को कर्जदार बनाकर हमें लूटने का काम कर रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: