JharkhandLead NewsRanchi

दलितों के शोषण और उनकी जमीन लूट में लगी है हेमंत सरकारः कमला देवी पाटले

Ad
advt

Ranchi : भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की झारखंड प्रदेश प्रभारी कमला देवी पाटले ने हेमंत सरकार पर आरोप लगाया कि राज्य में दलितों पर शोषण बढ़ता जा रहा है. बुधवार को प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि झारखंड के दलितों की स्थिति किसी से छिपी नहीं है. समय-समय पर दलितों पर हो रहे अत्याचार की सूचना देश दुनिया को मिलती रहती है.

जबसे हेमंत सोरेन वाली महागठबंधन की सरकार आयी है, तब से राज्य में लचर विधि व्यवस्था दिख रही. महिला सुरक्षा पर सवाल है.

advt

दलितों की जमीन लूट, उनके साथ मारपीट औऱ युवाओं के साथ छल हो रहा है. सरकार को अपनी जिम्मेदारी लेनी होगी. इस दौरान पूर्व मंत्री अमर कुमार बाउरी सहित अन्य भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ने किया विद्युत शवदाह गृह का शिलान्यास

advt

हर कोने में दलित हो रहे शोषित

कमला देवी ने कहा कि हाल में ही चिरुडीह की घटना मीडिया के माध्यम से पूरे देश तक पहुंची है. वहां जिस तरह से विशेष समुदाय (अल्पसंख्यक) के लोगों ने 6 दलित परिवारों को घर से बेघर कर दिया, वह न सिर्फ दलितों पर अन्याय है बल्कि अमानवीय भी है. इतनी बड़ी घटना के बाद भी सरकार ने पीड़ित परिवार की सुध तक नहीं ली.

भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा पीड़ित दलित परिवार के साथ खड़ी हुई. एक लंबी लड़ाई लड़ते हुए मामले को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग तक पहुंचाया. मोर्चा की पहल पर ही आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की और जिला प्रशासन को सुरक्षित उन्हें उनके घर तक पहुंचाने का निर्देश दिया.

इसे भी पढ़ें :JPSC : 12 या 19 सितंबर को हो सकती है सिविल सेवा परीक्षा

साथ ही आयोग ने आरोपियों की 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने का भी निर्देश दिया. लेकिन महीनों गुजर जाने के बाद भी आज तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई.

इसी तरह की एक घटना चाईबासा के मझगांव में भी हुई. जब अल्पसंख्य समुदाय के लोगों ने अकारण दलित परिवार पर अचानक हमला कर उनके साथ मारपीट की. घटना के बाद जब पीड़ित परिवार पुलिस से गुहार लगाने पहुंची तो पुलिस पूरे मामले को रफा- दफा करने का प्रयास करती रही.

इस घटना में भी अनुसूचित जाति मोर्चा ने लड़ाई लड़ते हुए मामले को राज्य सरकार और राज्यपाल तक पहुंचाया. पर अब तक इस घटना में भी किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है.

इसे भी पढ़ें : बिहार के वैशाली में जहरीली शराब पीने से दो युवकों की मौत, परिजनों में मचा कोहराम

सीएम के इलाके में भी अपराधी हावी

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र बरहेट में बरहेट थाना प्रभारी हरीश पाठक ने एक युवती को सरेआम पीटा. जब इस घटना की जानकारी भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा को हुई तो पूरे राज्य में पीड़ित युवती के इंसाफ के लिए आन्दोलन किया गया जिसके बाद आरोपी थाना प्रभारी को मात्र निलंबित किया गया.

हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने साहेबगंज की एक दलित महिला की जमीन लूट कर उस पर आलिशान बंगला बनवा लिया. इस मामले में भी मोर्चा की तरफ से कई आंदोलन किये गये.

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने भी इस मामले को गंभीरता से उठाया लेकिन सत्ता के नशे में चूर हेमंत सरकार ने किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की.

राज्य में भूख और ठंड से लगातार दलितों की मौत होती रही है लेकिन सरकार के तरफ से कोई ठोस रणनीति नहीं तैयार की गयी. बोकारो जिला के कसमार के भूखल घासी की मौत भूख से हो गयी.

इसे भी पढ़ें : NEWSWING IMPACT: अल्पसंख्यक विभाग ने सुधारा अपना वेबसाइट, प्रदूषण बोर्ड अब भी नहीं चेता

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: