JharkhandRanchi

हेमंत बोले- लाठी डंडे से भगायेंगे बीजेपी को, भड़की भाजपा, चुनाव आयोग से की शिकायत

Ranchi : सीएम हेमंत सोरेन दुमका उपचुनाव के लिए चुनावी मैदान में डटे हुए हैं. यूपीए कैंडिडेट औऱ छोटे भाई बसंत सोरेन के लिए वे लगातार सभाएं कर रहे हैं. 27 अक्टूबर को एक चुनाव प्रचार कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि चुनाव के बाद भाजपाइयों को लाठी-डंडे से खदेड़ेंगे. प्रदेश भाजपा ने हेमंत के इस बयान पर नाराजगी जतायी है. प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि हेमंत अपने बयान से हिंसा को बढ़ावा दे रहे हैं. सीएम दुमका और बेरमो के उपचुनाव में महाठगबंधन उम्मीदवार की करारी हार को देख चुके हैं. अतः वे भाषा की नीचता पर उतर आये हैं. इसके साथ ही भाजपा ने चुनाव आयोग के पास हेमंत सोरेन और झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन की पत्नी के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ें – JPSC के चेयरमैन बनाये गये अमिताभ चौधरी, 2 साल तक देंगे सेवा

सरकार के इशारे पर हिंसा

दीपक प्रकाश के अनुसार राज्य सरकार के इशारे पर हिंसा हो रही है. यह आज सच साबित हो रहा है. हेमंत सरकार हिंसा को बढ़ावा देगी, इसका सबूत पहली कैबिनेट से ही मिल गया था. पहली कैबिनेट में ही राष्ट्र विरोधी लोगों पर से मुकदमे वापस लिये गये. आज उग्रवादी-नक्सली फिर से राज्य को अशांत करने में जुट गये हैं. यह सरकार हिंसा, तुष्टीकरण, भ्रष्टाचार, लूट-खसोट पर टिकी हुई है. झारखंड को लूटनेवाले लालू प्रसाद यादव जैसे सजायाफ्ता कैदी की सेवा करना ही यह सरकार अपना राजधर्म समझती है.

इसे भी पढ़ें – भाजपा ने सरकार से पूछा ‘क्या हुआ तेरा वादा’, कहां है नौकरी और कहां है बेरोजगारी भत्ता

आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन

प्रदेश भाजपा ने सीएम के लाठी डंडे-वाले बयान पर चुनाव आयोग से शिकायत की है. उनके खिलाफ आचार संहिता व अनुच्छेद 14 के उल्लंघन का मामला दर्ज कराया है. साथ ही दुमका प्रत्याशी बसंत सोरेन की पत्नी पर आयकर अधिनियम के उल्लंघन की भी शिकायत दर्ज करवायी है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को लिखे पत्र में कहा है कि 27 अक्टूबर को हेमंत सोरेन ने भाजपाइयों को लाठी-डंडे से खदेड़ने संबंधी बयान दिया है. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14 में समानता का अधिकार दिया गया है. सीएम की भाषा आपत्तिजनक औऱ आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है. साथ ही बसंत सोरेन द्वारा किये गये नामांकन पर भी सवाल उठाये हैं. कहा गया है कि नामांकन में बसंत की पत्नी पर दो- दो पैन कार्ड रखने की सूचना दी गयी है. दो पैन कार्ड रखना आयकर अधिनियम 1961 की धारा 139 ए का उलंघन है. यह आयकर अधिनियम के तहत एक अपराध है. इस आधार पर बसंत सोरेन का नामांकन तत्काल प्रभाव से रद्द किया जाये.

इसे भी पढ़ें – बिहार विधानसभा चुनाव : पहले चरण में 71 सीटों पर 52.24 प्रतिशत हुई वोटिंग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: