JharkhandRanchi

सिर्फ 0.3 प्रतिशत लोगों की ही समस्या सुन रही हेमंत सरकारः भाजपा

Ranchi: भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि पिछले दो महीनों से झारखंड की सत्ता ट्विटर से ही चल रही है. जमीनी हकीकत से सरकार का कोई लेना देना नहीं है.

प्रतुल ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा आदिवासी मूलवासियों के विकास के मुद्दे पर सत्ता में आयी है. लेकिन सत्ता में आने के बाद हेमंत सरकार वर्चुअल दुनिया की सरकार बन गयी.

इसे भी पढ़ें : मेंटेनेंस नहीं होने के कारण सड़क से दूर हो रही है 108 एंबुलेंस

एक लाख से कम एक्टिव यूजर 

प्रतुल ने कहा कि ऐसे तो झारखंड में लाखों लोगों ने ट्विटर का अकाउंट बनाकर रखा है लेकिन एक मोटे अनुमान के अनुसार यहां एक लाख से भी कम एक्टिव ट्विटर एकाउंट्स हैं.

जबकि झारखंड की आबादी 3.25 करोड़ है. इस तरीके से सरकार सिर्फ 0.3% आबादी की समस्याओं पर निर्देश देकर सुर्खियां बटोर रही है.

यानी झारखंड में प्रति लाख की आबादी में सिर्फ 300 लोगों के पास ट्विटर के जरिए सरकार तक अपनी समस्याओं को पहुंचाने का विकल्प है.

इसे भी पढ़ें : पलामू: वन विभाग की मनमानी, घर के आंगन में खोदा ट्रेंच, फसल पर चलायी जेसीबी  

आदिम जनजातियों की समस्या का निराकरण कैसे

प्रतुल ने कहा कि सुदूर जंगलों और पहाड़ों में रहने वाले पहाड़िया, असुर, बिरहोर जैसे आदिम जनजातियों की समस्या का निराकरण ट्विटर से तो नहीं होने वाला. ना ही सुदूर गांवों में बसने वाले 80% आदिवासी मूल वासियों की बात भी ट्विटर के जरिए सरकार तक पहुंचने वाली है.

असली झारखंड गांव में बसता है और अधिकांश ग्रामीण ट्विटर का उपयोग नही करते. हेमंत सरकार ट्विटर पर निर्देश देकर सुर्खियां बटोर रही है लेकिन झारखंड के 99.7% लोगों की समस्याएं सरकार तक नहीं पहुंच रही.

इसे भी पढ़ें : धनबाद : अपहरण के प्रयास मामले में ढुल्लू महतो के बड़े भाई सहित पांच पर मामला दर्ज,एक को भेजा गया जेल 

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close