JharkhandLead NewsRanchi

धान खरीद में हेमंत सरकार फिर साबित हुई फिसड्डी : आदित्य साहू

झारखंड के किसानों का हाल बेहाल, बिजली की भी स्थिति बद से बदतर

Ranchi : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू ने धान खरीद मामले में हेमंत सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि झारखंड की सत्तारूढ़ कांग्रेस झामुमो की सरकार में किसानों का हाल बेहाल है. किसानों के धान सड़ रहे हैं. धान खरीद में हेमंत सरकार की लापरवाही के कारण किसान परेशान हैं. उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष किसानों द्वारा विक्रय किये गये धान का भुगतान नहीं हो पाया है. किसान, हेमंत सरकार की उदासीनता के कारण सस्ते भाव में बिचौलियों को धान बेचने को मजबूर हैं. किसानों को बड़े-बड़े वायदे कर ठगा गया. किसानों की बदहाली के सबसे बड़े जिम्मेवार हेमंत सरकार है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस झामुमो किसानों को गुमराह कर रही है.

प्रदेश के किसान तिल-तिल कर मरने को मजबूर हैं. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के हालात को जानते हुए भी मरणासन्न छोड़ रखा है. उन्होंने कहा कि अब उन किसानों का क्या होगा जिनकी फसल सड़ गयी, बर्बाद हो गयी. धान खरीद में सरकार फिसड्डी साबित हुई है.

इसे भी पढ़ें:UP Election 2022: मैनपुरी के करहल सीट से चुनाव लड़ेंगे Akhilesh Yadav, समाजवादी पार्टी का ऐलान

Catalyst IAS
SIP abacus

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, झामुमो और राजद किसानों को बड़े-बड़े सब्जबाग दिखला कर सत्ता में आयी और अब लॉलीपॉप पकड़ा रही है. प्रशासनिक पदाधिकारी झामुमो कार्यकर्ता की बोली बोल रहे हैं.

MDLM
Sanjeevani

उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार में मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत 1 एकड़ में पांच हजार व 5 एकड़ में पच्चीस हजार रुपया 16.51 लाख किसानों को दिया जा रहा था, जिसे हेमंत सरकार ने बंद कर दिया.

वहीं 28.63 लाख किसानों को 6 हजार रुपया दिया जा रहा था जिसमें हेमंत सरकार ने 6.32 लाख किसानों का नाम काट दिया. हेमंत सरकार ने घोषणा पत्र में ₹2 लाख तक के लोन माफ करने की बात कही थी, अब सरकार ने अपने वादों से पलटी मार दी है.

इसे भी पढ़ें:अब प्राइवेट में आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए लगेंगे 300 और रैपिड टेस्ट के लिए 50 रुपये

उन्होंने कहा कि प्रदेश में बिजली की भी स्थिति बद से बदतर हो चुका है. प्रदेश की जनता, व्यवसायी वर्ग, छात्र, किसान बिजली कटौती से परेशान हैं. बड़े-बड़े वादे कर सत्ता में आयी हेमंत जनता को गुमराह कर रहे हैं.

किसानों को भी बिजली मुफ्त देने का वादा किया था किंतु मुफ्त बिजली तो छोड़िए प्रदेश की जनता को पैसे देकर भी बिजली नहीं मिल रही है.

इसे भी पढ़ें:9 दिन से लापता युवक का कोई सुराग नहीं, मां ने सतगावां थाना के गेट के सामने दिया धरना

Related Articles

Back to top button