न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

महिलाओं की सुरक्षा के लिए अलग से जारी हो हेल्प लाइन नंबरः खतीजा

1,272

Ranchi: राज्य में महिला संबंधित मुद्दों पर एनजीओ काम तो कर रहे हैं लेकिन सेवा प्रावधान के तहत ये कार्य नहीं करते. जिससे महिला मुद्दों का सही तरीके से निबटारा नहीं हो पा रहा. ऐसे में द अल्टरनेट स्पेस संस्था राज्य में महिला हिंसा से संबधित मुद्दें पर एक मजबूत नेटवर्क बनाने की कोशिश कर रही है. उक्त बातें द अल्टरनेट स्पेस की राज्य प्रमुख खतीजा फारूक न कही. संस्था की ओर से आयोजित दो दिवसीय प्रोटेक्शन ऑफिसर्स कार्यशाला की जानकारी देते हुए खतीजा ने कहा कि ऐसी मजबूत ईकाई में हर स्तर की महिलओं को शामिल किया जायेगा. जिससे महिला हिंसा की सही जानकारी दे कर अन्य महिलाओं को भी इससे जोड़ा जा सकेगा. इसका उद्देश्य महिला हिंसा पर रोक लगाना तो होगा ही साथ ही महिलाओं को उचित सुरक्षा देना भी होगा. जिससे हिंसा के पूर्व ही रोकथाम की जा सके.

राज्य में महिला हेल्पलाइन जरूरी

संस्था के प्रमुख कार्यों को बताते हुए खतीजा ने कहा कि राज्य में महिलाओं के लिए अलग से हेल्पलाइन बनाना काफी जरूरी है. केंद्र सरकार के नियमों के अनुसार यह हेल्पलाइन 181 या कोई अन्य नंबर हो सकता है. लेकिन राज्य में ऐसा नहीं है. उन्होंने कहा कि दिल्ली, देहरादून जैसी जगहों में 181 से ही हेल्पलाइन नंबर चल रहे है. जो काफी सफल भी हैं.

प्रोटेक्शन अधिकारियों के साथ की गई कार्यशाला

खतीजा ने कहा कि 22 और 23 फरवरी को संस्था की ओर से प्रोटेक्शन ऑॅफिसरों के साथ एक कार्यशाला का आयोजन किया गया. जिसमें 24 जिला से 40 अधिकारी शामिल हुए. उन्होंने कहा कि हेल्पलाइन नंबर को लेकर सभी अधिकारियों ने सहमति जतायी. कहा कि राज्य में हेल्पलाइन नंबर होने से काम करने में आसानी होगी. उन्होंने कहा कि पूर्व में भी इसके लिए टेंडर निकाला गया था. आने वाले समय में जल्द ही टेंडर निकाला जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः निर्वाचन आयोग ने सर्विस वोटरों को मतदाता सूची में शामिल करने का दिया अंतिम अवसर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: