न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राष्ट्रीय पहचान बनने के बाद भी जरूरतमंद महिलाओं की करें मदद: सीपी सिंह

15

Ranchi: संघर्ष, मेहनत और हौसले के बल पर ही लोग अपनी पहचान बनाते हैं. इसी तरह नारी शक्ति ने भी अपने संघर्षों और मेहनत के कारण महिलाओं के बीच अपनी अलग पहचान बनायी है. वर्तमान में संगठन को राष्ट्रीय पहचान मिल गयी है, जिससे इसका कार्य विस्तार होगा. ऐसे में जरूरी है कि राज्य की महिलाओं को उतनी ही प्राथमिकता दी जाये, जितनी पूर्व में दी जाती थी. उक्त बातें नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने नारी शक्ति संगठन के कार्यक्रम के दौरान कहा. उन्होंने कहा कि जरूरतमंद महिलाओं के लिए कार्य करना सौभाग्य की बात है. क्योंकि महिलाएं ही समाज की जड़ हैं. ऐसे में अनेक प्रकार से महिलाओं का शोषण या किसी योजना का लाभ न मिल पाना दुर्भाग्य की बात है. उन्होंने कहा अन्य संगठनों को भी चाहिए कि इस क्षेत्र में मिल कर ईमानदारी से काम करें.

महिला विकास में करना है काम

संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष आरती बेहरा ने कहा कि संगठन को सदस्यों की सक्रियता के कारण ही राष्ट्रीय पहचान मिला है. इसमें राज्य की महिलाओं का योगदान अधिक है. उन्होंने कहा कि भले ही राष्ट्रीय पहचान मिल गयी हो, फिर भी राज्य की महिलाओं के लिए संगठन कार्यरत रहेगी और इन मामलों को प्राथमिकता भी दिया जायेगा. इसके अलावा पूरे देश भर की दबी-कुचली व शोषित महिलाओं को न्याय दिलाने का कार्य करुंगी.

silk_park

महिलाओं को मिला पदभार

कार्यक्रम के दौरान नये चेहरों को संगठन में शामिल किया गया. राष्ट्रीय संगठन में मुख्य सलाहकार बनारस के प्रतीक प्रताप सिंह, झारखंड राज्य अध्यक्ष रीता सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष रीना राज गुप्ता, जिला अध्यक्ष कंचन सिन्हा, महासचिव शर्मिष्ठा दत्ता को पदभार दिया गया. इसके साथ ही अफसरी देवी, संगीता कुमारी दिव्या होरो, नोनी धान व अन्य को भी शामिल किया गया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: