BusinessJharkhandRanchi

एचईसी में क्षमता है, बस योजनाबद्ध तरीके से काम करने की जरूरतः गोयल

भारी उद्योग मंत्रालय के केंद्रीय सचिव अरुण गोयल पहुंचे एचईसी मुख्यालय, मशीनों के बारे में ली जानकारी

Ranchi: भारी उद्योग मंत्रालय के केंद्रीय सचिव अरुण गोयल दिल्ली से रांची आने के बाद सीधे एचईसी मुख्यालय पहुंचे. उन्होंने एचईसी के एफएफपी और एचएमबीपी प्लांट का निरीक्षण किया. एचएमबीपी प्लांट में मशीनों को देखा. इस दौरान उन्होंने कई मशीनों और शॉप में बन रहे महत्वपूर्ण उपकरणों की जानकारी ली. निरीक्षण के बाद अरुण गोयल ने मुख्यालय में अफसरों के साथ बैठक की. कंपनी के वर्तमान स्थिति से अवगत हुए कंपनी के सीएमडी नलिन सिंघल ने एचईसी से संबंधित विस्तृत रिपोर्ट पेश की.

बैठक में अफसरों से अरुण गोयल ने कहा कि एचईसी कंपनी में क्षमता है. कंपनी के योगदान को भूला नहीं जा सकता है. योजनावद्ध तरीके से काम करने की जरुरत है.

बैठक में कार्मिक निदेशक एमके सक्सेना वित्त निदेशक ए पांडा, मार्केटिंग निदेशक राणा एस चक्रवर्ती समेत तमाम अफसर उपस्थित थे.

advt

इसे भी पढ़ें:सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी अनामिका गौतम की कंपनी के नाम पर ख़रीदी गयी ज़मीन मामले की अगली सुनवाई 28 सितंबर को

कंपनी के पास कार्यादेश की कमी नहीं

अफसरों ने बताया कि कंपनी के पास कार्यादेश की कमी नहीं है. वर्तमान समय में पुरानी मशीनों से काम हो रहा है. अगर एचईसी का आधुनिकीकरण होता है, तो कंपनी का भविष्य उज्जवल है.

कंपनी की क्षमता से अवगत हुए

प्लांट निरीक्षण के दौरान एचईसी के अफसरों ने केंद्रीय सचिव को कंपनी की क्षमता से अवगत कराया. अफसरों ने बताया कि यह एशिया की एकमात्र एक मात्र ऐसी कंपनी है, जहां एक साथ फोजिंग एवं कास्टिंग की सुविधा है. एक प्लांट में फोर्जिंग और कास्टिंग के बाद बगल के शॉप में मशीनिंग की सुविधा है.

कंपनी में भारी मशीन बिल्डिग, भारी मशीन टूल, आधुनिक नगर, हैवी मशीन डिजाइनिग, ट्रेनिग इंस्टीट्यूट काम कर रहे हैं. एचईसी ने भिलाई, बोकारो, राउरकेला जैसे स्टील प्लांट के निर्माण में अहम भूमिका निभा चुका है. वर्तमान में कंपनी परमाणु ऊर्जा, रक्षा, रेलवे, इसरो आदि के लिए महत्वपूर्ण उपकरणों का निर्माण कर रहा है.

इसे भी पढ़ें:हेमंत सरकार पर बाबूलाल का हमला, कहा- सीएम और अफसरों के खाते में जा रहा बालू, पत्थर, लोहा और कोयला की लूट का पैसा

प्लांट में कर्मचारियों से भी मिले गोयल,कर्मचारियों ने बतायी परेशानीः

एचएमबीपी प्लांट में निरीक्षण के दौरान अरुण गोयल कर्मियों से भी मिले. उन्होंने कंपनी में बन रहे उपकरणों के बारे में जाना. कर्मियों ने अपनी परेशानी से भी केंद्रीय सचिव को अवगत कराया.

सात माह से वेतन लंबित चल रहा है. इसकी भी जानकारी कर्मियों ने दी. केंद्रीय सचिव ने कर्मियों को बताया कि कंपनी को लेकर मंत्रालय गंभीर है. आने वाले समय में सभी समस्याओं का निपटारा होगा. कर्मचारी इसी प्रकार संयम से काम करें.

श्रमिक संगठनों से भी करेंगे बात

जानकारी के अनुसार अरुण गोयल श्रमिक संगठनों के साथा जगन्नाथपुर क्लब में बातचीत करेंगे. कर्मियों की समस्याओं से अवगत होंगे. शाम में दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे.

इसे भी पढ़ें:रांची में दुष्कर्म की सबसे अधिक घटनाएं, गिरिडीह में सबसे ज्यादा दहेज हत्या

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: