न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारी बारिश-भूस्खलन ने बढ़ाई अमरनाथ जा रहे श्रद्धालुओं की परेशानी, कैंपों में ली शरण

305

Jammu : वार्षिक तीर्थयात्रा शुरू होने के बाद से भारी बारिश के चलते लगातार व्यवधान के कारण शनिवार को जम्मू से अमरनाथ यात्रा को रोकना पड़ा. इस बीच उधमपुर में फंसे 2,000 से अधिक तीर्थयात्री शनिवार को सुबह पहलगाम स्थित कैंप के लिए रवाना हो गये. गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में कई दनों से लगातार बारिश की खबर आ रही है. जिसकी वजह से जगह-जगह से भूस्खलन की कई घटनाएं सामने आ रही हैं. सुरक्षा एहतियात की वजहसे प्रशासन ने यात्रियों के जत्थे को जहां-तहां कैम्पों में रोक दिया है.

इसे भी पढ़ें- कांग्रेस का भाजपा पर पलटवार, कहा- इससे बदतर स्थिति क्या होगी कि सीएम और डीजीपी को पता ही नहीं चला कितने जवान हुए थे अगवा

खराब मौसम के कारण रोकी गयी यात्रा

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि भगवती नगर आधार शिविर से यात्रा रोक दी गयी है. किसी भी तीर्थयात्री को आगे जाने की अनुमति नहीं है लेकिन फंसा हुआ काफिला सुबह दक्षिण कश्मीर स्थित पहलगाम आधार कैंप की ओर रवाना हो गया. इस काफिले में 2,032 तीर्थयात्री हैं जिसमें 315 महिलाएं हैं. अधिकारी के मुताबिक खराब मौसम को देखते हुये यात्रा निलंबित करने का निर्णय लिया गया.

इसे भी पढ़ें- सदियों पुरानी परंपरा पत्थलगड़ी पर तनाव और टकराव क्यों?

तीसरे जत्थे के तीर्थयात्रियों में से अधिकांश उधमपुर जिले में फंसे थे

जम्मू – श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात में लगातार व्यवधान के कारण शुक्रवार को भगवती नगर आधार शिविर से रवाना होने वाले तीसरे जत्थे के तीर्थयात्रियों में से अधिकांश उधमपुर जिले में फंसे थे. 12 किलोमीटर के बालटाल मार्ग से जाने वाले 229 महिलाओं सहित 844 तीर्थयात्री शुक्रवार रात अपने गंतव्य तक पहुंच गये जबकि 36 किलोमीटर लंबे पारंपरिक पहलगाम मार्ग से जाने वाले 2,032 तीर्थयात्रियों को अधिकारियों ने एहतियातन तौर पर टिकरी और उधमुपर में अन्य जगहों पर रोक दिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि सड़क साफ होने के बाद सुबह में तीर्थयात्रियों को अपने गंतव्य की ओर रवाना होने की अनुमति दे दी गयी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: