Corona_UpdatesHEALTHJharkhandRanchi

मेडिकल काउंटर से सर्दी खांसी की दवा लेना पड़ रहा भारी

  • बिना डॉक्टर से दिखाए खुद से ले रहे दवा
  • स्थिति बिगड़ने पर करा रहे कोरोना टेस्ट
  • रिपोर्ट आने तक स्थिति हो रही गंभीर

Ranchi: कोविड गंभीर रूप धारण कर चुका है. ऐसे में ज्यादातर लोगों में कोविड के लक्षण दिखने लगे हैं. ऐसे में लोग बिना डॉक्टर से कंसल्ट के ही खुद से दवाइयां लेने लगे हैं. जिससे कि भले ही बुखार और खांसी कम हो जा रहा है लेकिन ठीक नहीं हो रहा है. ऐसे में जब मरीज की स्थिति खराब हो जा रही है तो उसका कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है. जहां उसके पॉजिटिव होने की पुष्टि हो रही है. ये कहना है डॉ बी कुमार का.

टेस्ट कराकर डॉक्टर की निगरानी में इलाज

डॉ बी कुमार की मानें तो कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद सात-आठ दिनों में एंटीबाडी बनने लगता है और धीरे-धीरे लक्षण कम होने लगते हैं. यदि किसी में लक्षण बना हुआ है तो टेस्ट कराने के बाद उनका ट्रीटमेंट डॉक्टर के निगरानी में होना चाहिए और ऑक्सीजन का लेवल चेक करते रहना चाहिए.

advt

बिना प्रिस्क्रिप्शन के न दे दवाई

किसी भी मेडिसिन स्टोर में जाकर सर्दी खांसी बुखार की दवा मांगने पर काउंटर पर बैठा स्टाफ बिना किसी पूछताछ के दवा दे रहे हैं. ऐसे में लोग घर पर ही खुद से इलाज करना शुरू कर देते हैं. जब इन दवाओं से काम नहीं चलता तब डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद टेस्ट कराते हैं. इस चक्कर में वायरस फैल चुका होता है और परेशानी बढ़ जाती है. इसलिए मेडिसिन स्टोर वाले बिना प्रिस्क्रिप्शन के दवाई देने से परहेज करें जिससे कि बड़ी संख्या में मरीजों को गंभीर होने से बचाया जा सकता है. वहीं, मेडिकल स्टोर वाले बिना प्रिसक्रिप्शन के सर्दी, खांसी, बुखार की दवा मांगने वालों का डाटा रखें.

इसे भी पढ़ेःझारखंड स्कूल इनोवेशन चाइलेंज के सेलेक्टेड स्टूडेंट्स को मिलेंगे 10 हजार

हरमू के सहजानंद चौक में रहने वाले एक व्यक्ति को अचानक से बुखार आने लगा. परिजन मेडिकल स्टोर से बुखार की दवाई लेकर आ गए. दवा दुकानदार ने उन्हें एंटीबायोटिक, पारासिटामोल और विटामिन की कुछ टेबलेट दे दी. जब तक दवाई का असर रहता तब तक उन्हें बुखार नहीं आ रहा था. दवा का असर कम होते हैं शरीर तपने लगा. स्थिति देख परिजन उन्हें डॉक्टर से कंसल्ट कराने ले गए. टेस्ट कराने पर पता चला कि उन्हें कोरोना है. तत्काल उन्हें हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया.

इसे भी पढ़ेःहिंडाल्को के मुरी प्लांट में सामान्य रूप से कार्य शुरू

कांके रोड में एक युवक की जांच में पॉजिटिव रिपोर्ट आई है. गले में सिर्फ थोड़ी समस्या के साथ वह मेडिकल स्टोर पहुंच गया. दवा दुकानदार ने पहले दवा दे दी. बाद में उसे कहा गया कि कोविड के मरीजों के लिए अलग दवाइयां है. डॉक्टर से कंसल्ट कर उनकी बताई दवा लेने की ज़रूरत है. खुद से दवा लेने से उसे परेशानी हो सकती है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: