Court NewsLead News

सीमा पात्रा की क्वैशिंग याचिका पर हुई सुनवाई, जाने क्या हुआ…

Ranchi :  अपनी नौकरानी सुनीता खाखा के साथ क्रूरता को लेकर दर्ज प्राथमिकी को निरस्त करने को लेकर भाजपा की निलंबित नेत्री सीमा पात्रा की याचिका की सुनवाई मंगलवार को झारखंड हाइकोर्ट में हुई. मामले में हाइकोर्ट के न्यायमूर्ति एसके द्विवेदी की कोर्ट ने पीड़िता सुनीता खाखा और मामले के सूचक विवेक बास्की को प्रतिशपथ पत्र दाखिल करने के लिए 2 सप्ताह का समय दिया. मामले की अगली सुनवाई 4 जनवरी 2023 को निर्धारित की गयी. पीड़िता सुनीता और सूचक विवेक की ओर से अधिवक्ता शुभाशीष रसिक सोरेन ने पैरवी की. बता दें कि मामले को लेकर सीमा पात्रा के खिलाफ अरगोड़ा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी.

नौकरानी सुनीता ने बताया था कि सीमा पात्रा ने उन्हें कई दिनों तक भूखे-प्यासे कमरे में बंद रखा था. लोहे के रॉड से मार कर उसके दांत तक तोड़ दिये थे. इतने से भी उनका जी नहीं भरा तो उन्होंने गर्म तवे से शरीर के कई हिस्सों में दागा, जिसके निशान अब भी हैं. इसके अलावे पेशाब को भी मुंह से साफ कराती थी. सुनीता पर हो रहे जुल्म की जानकारी किसी तरह कार्मिक विभाग के अफसर विवेक बास्की को मिली थी. इसके बाद उन्होंने डीसी राहुल कुमार सिन्हा के पास शिकायत दर्ज करायी. पुलिस ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में सुनीता को मुक्त कराया था.

इसे भी पढ़ें – शराब नीति पर लूटपाट के खेल से हो रहा झारखंड को राजस्व का नुकसानः बाबूलाल मरांडी

Related Articles

Back to top button