DeogharHEALTHNEWSRanchi

देवघर में स्वास्थ्य कर्मचारियों ने स्वास्थ्य सचिव से की वेतन भुगतान व शीर्ष 2210 में मर्ज करने की मांग

Deoghar:  स्वास्थ्य विभाग के 2211 शीर्ष के कर्मचारियों ने स्वास्थ्य सचिव को पत्र लिखकर कर्मचारियों के लंबित वेतन भुगतान करते हुए इस शीर्ष में कार्यरत कर्मचारियों को 2210 शीर्ष में मर्ज करने की मांग की है. इस संबंध में लिखे गए आवेदन कहा गया है कि सिविल सर्जन देवघर द्वारा 11 अक्टूबर 2014 को जारी पत्रांक संख्या 2 द्वारा इनकी नियमित नियुक्ति की गई. फरवरी 2018 तक इन्हें परिवार कल्याण शीर्ष 2211 शीर्ष से राज्य सरकार द्वारा वेतन भुगतान किया जाता रहा. वर्ष 2018 में परिवार कल्याण शीर्ष 2211 को समाप्त कर राज्य सरकार द्वारा सिर्फ 2210 शीर्ष (गैर योजना मद) को रखा गया लेकिन परिवार कल्याण 2211 शीर्ष के कर्मचारियों का वेतन राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एनएचएम के रहमो करम पर छोड़ दिया गया. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से अनुदान मिलने के बाद इन्हें भुगतान किया जाता है. जिस कारण प्रतिवर्ष 8-9 महीने पर लगातार संघर्ष के बाद वेतन भुगतान किया जाता है. वहीं इनके साथ एक ही पत्र पर नियमित हुए दर्जनों कर्मचारियों को 2210 शीर्ष से ससमय वेतन भुगतान सहित अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है. जब हम राज्य सरकार के कर्मचारी हैं तो फिर एनएचएम के अनुदान के आधार पर हमें वेतन क्यों दिया जाता है. जल्द 2210 शीर्ष में समायोजित नहीं होने पर न्यायालय की शरण में जाने की बात कही गई है.
इसे भी पढ़ें: कोडरमा में सामन्तो काली महिला मंडल का तीन दिवसीय वार्षिक उत्सव शोभायात्रा के साथ शुरू

पत्र में आभा कुमारी, इंदु कुमारी, कंचन कुमारी, कविता कुमारी, गीता मरांडी, मंजू कुमारी, मीना कुमारी, विद्यापति केनेडी, प्रतिमा घोष, अनामिका सिंहा, सविता कुमारी, उषा शर्मा, किरण कुमारी, सुनीता कुमारी, डोली कुमारी, उषा सिन्हा, पूनम मेहरा, मुन्नी कुमारी, पिंकी कुमारी, अनिता कुमारी, पूनम कुमारी, रूबी कुमारी, रेखा चौधरी, बबीता कुमारी, धर्मशिला कुमारी, विष्णु कुंवर, रानी कुमारी, रमोला मुर्मू, मंजू राउत आदि के हस्ताक्षर हैं.

Related Articles

Back to top button