HEALTHRanchi

हेल्थ प्वाइंट के डॉक्टरों ने मुंह और जबड़े का सफल ऑपरेशन कर रूपा को दी नयी जिंदगी

  • एक साल से तरल भोजन पर रह रही थी रूपा

Ranchi: हेल्थ प्वाइंट के डॉक्टरों ने 16 वर्षीय रूपा (नाम बदला हुआ) को नयी जिंदगी दी. पिछले एक साल से रूपा मुंह नहीं खोल पा रही थी. रूपा गुमला की रहने वाली है. परिजनों ने इसका इलाज कई जगहों पर कराया, जिसके बाद हेल्थ प्वाइंट अस्पताल में मरीज का इलाज किया गया.

Jharkhand Rai

अस्पताल के डॉ अनुज कुमार ने बच्ची का इलाज किया. इसकी जानकारी प्रेस वार्ता में दी गयी. इस दौरान डॉ अनुज ने बताया कि मरीज का जबड़ा और खोपड़ी की हड्डी पूरी तरह से जुड़ी हुई थी, जिसके कारण मुंह खुलना बंद हो गया था. मरीज की ये स्थिति एक साल से थी.

ऐसी परिस्थितियों में जहां मरीज मुंह नहीं खोल पाते, एनेस्थीसिया देना बहुत मुश्किल होता है. लेकिन अस्पताल के चीफ अनेस्थेटिस्ट डॉक्टर ओपी श्रीवास्तव ने फाइबर ऑप्टिक की मदद से मरीज को बेहोश किया. तब ऑपरेशन संभव हुआ.

इसे भी पढ़ें – बड़ा तालाब की सफाई और सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने के लिए निगम ने चौथी बार निकाला टेंडर

Samford

तीन घंटे चली सर्जरी

डॉ अनुज ने बताया कि यह ऑपरेशन लगभग तीन घंटे चला, जो सफल रहा. सर्जरी में दोनों हड्डियों को अलग किया गया. रूपा ने बताया कि अब वो पूरी तरह मुंह खोल पा रही है तथा ठोस पदार्थ भी खा पा रही है.

एक साल तक रूपा सिर्फ तरल पदार्थ का ही सेवन करती रही. डॉक्टर अनुज ने बताया कि मैक्सिलोफेशियल सर्जरी में नयी और उन्नत तरीकों से अब जटिल से जटिल सर्जरी भी आसान हो गयी है.

उन्होंने बताया कि इस सर्जरी में मरीज की हड्डियों को अलग करने के लिए पीजोसर्जरी यूनिट का इस्तेमाल किया जिससे रक्तस्राव होने की सम्भावना ना के बराबर होती. उन्होंने लोगों से अपील की कि जबड़े और मुंह की ऐसी गम्भीर बीमारियों से ना घबराएं और आगे आ कर इलाज करायें.

इसे भी पढ़ें –देश में अब तक कोरोना के 13 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच, संक्रमण दर में गिरावट

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: