Corona_UpdatesNational

 स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- Corona का इलाज करा रहे लोगों की संख्या से एक लाख ज्यादा मरीज हुए स्वस्थ

New Delhi: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि कोविड-19 से संक्रमित इलाज करा रहे मरीजों और स्वस्थ होने वाले मरीजों के बीच का अंतर एक लाख के पार चला गया है. देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 5,28,859 हो गये हैं और मृतकों की संख्या 16,095 पर पहुंच गयी है.

इसे भी पढ़ें- राहुल गांधी को शाह की चुनौती, सीमा विवाद पर 1962 से आज तक हो जाए दो-दो हाथ

मरीजों में स्वस्थ होने की दर 58.56 प्रतिशत

मंत्रालय ने बताया कि शनिवार तक स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या इलाजरत मरीजों की तुलना में 1,06,661 तक अधिक हो गयी है. उसने बताया कि अभी तक कोविड-19 के 3,09,712 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिनमें से 13,832 मरीज पिछले 24 घंटों में स्वस्थ हुए हैं. मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 मरीजों में स्वस्थ होने की दर 58.56 प्रतिशत है.

advt

उसने एक बयान में कहा कि कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ ही भारत सरकार द्वारा उठाये गये सक्रिय कदमों के प्रेरणादायक नतीजे मिल रहे हैं. उसने बताया कि अब भी 2,03,051 संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा हैं और सभी चिकित्सा निगरानी में हैं. भारत में अब कोविड-19 की जांच के लिए 1,036 प्रयोगशालाएं हैं. इनमें से 749 सरकारी और 287 निजी प्रयोगशालाएं हैं.

इसे भी पढ़ें- यूनिक बच्ची का जन्म! न हाथ-न पैर, देखने लिए दूर-दूर से आ रहे लोग, डॉक्टर हैरान

रोजाना 2 लाख से अधिक नमूनों की हो रही जांच

बयान में कहा गया है कि रोज दो लाख से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है. पिछले 24 घंटों में 2,31,095 नमूनों की जांच की गयी. अभी तक 82,27,802 नमूनों की जांच की जा चुकी है. इसमें कहा गया है कि 28 जून तक कोविड संबंधित स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा मजबूत किए जाने के तहत 1,055 कोविड अस्पतालों में 1,77,529 क्वॉरेंटाइन बेड लगाये गये, 23,168 आइसीयू बिस्तर और 78,060 ऑक्सीजन सुविधा वाले बिस्तर लगाये गये.

मंत्रालय ने बताया कि 2,400 कोविड स्वास्थ्य केंद्रों में 1,40,099 क्वॉरेंटाइन बेड, 11,508 आइसीयू बिस्तर और 51,371 ऑक्सीजन युक्त बिस्तर उपलब्ध हैं. इसके अलावा 9,519 कोविड देखभाल केंद्रों में देश में इस महामारी से लड़ने के लिए अभी 8,34,128 बिस्तर उपलब्ध हैं.

adv

केंद्र ने राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को एक करोड़ 87 लाख से ज्यादा एन95 मास्क और एक करोड़ 16 लाख से ज्यादा निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) भी मुहैया कराए हैं.

इसे भी पढ़ें- पटना का ये तस्वीर फिर से दिखा रहा 2019 की बारिश का ट्रेलर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button