Corona_UpdatesGarhwaJharkhand

कोरोना मरीज के आत्महत्या मामले में स्वास्थ्य और पीएचईडी मंत्री ने दिया जांच के आदेश, उपायुक्त सौंपेंगे रिपोर्ट

Garwa : गढ़वा सदर अस्पताल स्थित कोविड-19 सेंटर में इलाजरत एक युवक द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने के मामले की जांच होगी. मामला सामने आने पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और पीएचईडी मंत्री सह गढ़वा के विधायक मिथिलेश ठाकुर ने जांच का आदेश दिया है. गढ़वा उपायुक्त मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे.

आत्महत्या घटना पर पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री ने दुख जताते हुए कहा कि यह अत्यंत दुखद घटना है. उन्होंने सोशल मीडिया पर भी ट्वीट कर कहा है कि रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी. मंत्री ने कहा है कि यह मेडिकल इमरजेंसी है, सभी को धैर्य से रहना चाहिए और सरकार के कोरोना से लड़ाई में सहयोग करना चाहिए.

बता दें कि गत 14 अप्रैल को युवक की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे कोविड सेंटर में भर्ती किया गया था. उसका इलाज चल रहा था. लोगों ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव आने के बाद से ही वह डिप्रेशन में था. कोविड सेंटर में वह अलग बर्ताव करता था. युवक की आत्महत्या की घटना से पूरे अस्पताल परिसर में हड़कंप मचा हुआ है.

मृत युवक मझिआंव थाना क्षेत्र के करकट्टा गांव का रहने वाला था. घटना के बाद पुलिस ने उसके परिवार के लोगों को सूचना दे दी है. युवक ने जिस वार्ड में फांसी लगाकर आत्महत्या की है उसी वार्ड में भर्ती अन्य मरीजों के अनुसार रविवार के दिन से ही उसका बर्ताव बदल गया था. वह शोर मचा रहा था. बार-बार कह रहा था कोई उसे ऑक्सीजन लगा दे, परंतु उसकी किसी ने नहीं सुनी.

घटना से पहले रात में युवक ने खाना खाया था. उसके बाद इधर-उधर टहलता रहा. कहा कोई तो मुझे ऑक्सीजन लगा दे. सुबह होने पर जब लोग जगे तो युवक को गेट के सहारे लटकता हुआ शव देखा. इससे अलग वहां पहुंचे लोगों का कहना था कि शव जिस स्थिति में टंगा था, इससे यह प्रतीत होता है कि उसकी हत्या कर उसके शव को टांग दिया गया है.

इस संबंध में झामुमो के जिला प्रवक्ता धीरज दुबे ने कहा कि घटना पर मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने संज्ञान लिया है. मामले को गंभीरता से लेते हुए सुबह ही उपायुक्त को घटना की जांच के लिए निर्देशित किया है. श्री दुबे ने बताया कि सदर अस्पताल में इलाजरत मरीज कैसे फांसी लगायी ? उस वार्ड में किनकी ड्यूटी थी. अगर स्वास्थ्य कर्मियों की लापरवाही से यह घटना घटी है तो जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी.

 

इसे भी पढ़ें : रांची उपायुक्त कार्यालय के तीन कर्मी संक्रमित, डीसी समेत समेत कर्मियों की हुई जांच

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: